साल 2024 में भारतीय टीम के ध्यान देने वाले क्षेत्रों को लेकर दिग्गज ऑलराउंडर ने दिया बयान, तेज गेंदबाजों के बैकअप को लेकर कही बड़ी बात 

Australia v India - ICC World Test Championship Final 2023: Day One
मोहम्मद शमी चोटिल होने के कारण दक्षिण अफ्रीका दौरे का हिस्सा नहीं हैं

नए साल की शुरुआत हो चुकी है और 2024 में सभी ने अपने-अपने लिए खास लक्ष्य तैयार किये हैं। इस बीच इरफ़ान पठान (Irfan Pathan) ने उन क्षेत्रों का जिक्र किया, जिनमें भारतीय टीम को ध्यान देने की जरूरत है। इन्हीं में एक क्षेत्र तेज गेंदबाजी यूनिट का है।

भारत के पास पिछले कुछ समय से जबरदस्त तेज गेंदबाजी यूनिट रही है, जिसकी सराहना विदेशी दिग्गजों ने भी की। हालाँकि, पिछले कुछ समय में यह भी देखा गया कि भारत के प्रमुख तेज गेंदबाजों की गैरमौजूदगी में उनको रिप्लेस करने वाले गेंदबाजों का प्रदर्शन उतना अच्छा नहीं रहा। इसका ताजा उदाहरण हमें दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सेंचुरियन टेस्ट में देखने को मिला, जहाँ पर भारत को अपने अनुभवी तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी की कमी महसूस हुई, जिनकी गैरमौजूदगी में डेब्यू का मौका पाने वाले प्रसिद्ध कृष्णा ने निराशाजनक प्रदर्शन किया।

इरफ़ान पठान का मानना है कि सात से आठ अच्छे तेज गेंदबाजों को तैयार करने की जरूरत है, चाहे वो स्काउटिंग के माध्यम से आएं या फिर रणजी के माध्यम से। उन्होंने कहा कि तेज गेंदबाजों के समूह को तैयार रखने पर सबसे ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है। स्टार स्पोर्ट्स से बात करते हुए पठान ने कहा,

मुझे निजी तौर पर लगता है कि भारतीय टीम को 2024 में अच्छी तेज गेंदबाजी यूनिट तैयार करने की जरूरत है। हमने देखा कि दक्षिण अफ्रीका में क्या हुआ। हमारे पास तेज गेंदबाजों के लिए पूरी तरह से तैयार बैकअप नहीं था। ऐसा नहीं है कि उनके पास गुणवत्ता नहीं है लेकिन वे तैयार नहीं थे, इसलिए आपको मोहम्मद शमी की कमी महसूस हुई।

पूर्व भारतीय ऑलराउंडर ने इस बात पर भी प्रकाश डाला कि अगर जसप्रीत बुमराह को कुछ हो गया, तो टीम बड़ी मुसीबत में पड़ जाएगी। उन्होंने कहा,

इसका मतलब है, भगवान न करे, अगर जसप्रीत बुमराह को कुछ होता है, तो हमने उसे पहले भी उन्हें अपने एक्शन के कारण चोटिल होते देखा है, हम बाएं और दाएं देखेंगे और हमें इस तरह के गुणवत्ता वाले गेंदबाज नहीं मिलेंगे।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar