Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

जो रूट ने भारतीय टीम को हराने के बाद दिया बड़ा बयान

जो रूट, फोटो- बीसीसीआई
जो रूट, फोटो- बीसीसीआई
Naveen Sharma
FEATURED WRITER
Modified 09 Feb 2021
न्यूज़
Advertisement

दोहरा शतक लगाकर चेन्नई टेस्ट मैच में भारतीय टीम (Indian Team) को हार की तरफ धकेलने वाले इंग्लिश कप्तान जो रूट (Joe Root) ने मैच के बाद कुछ अहम बातें बताई है। जो रूट का कहना है कि हम भारतीय टीम को जीत के समीकरण में आने ही नहीं देना चाहते थे और ऐसा करने में सफल रहे। रूट ने यह भी कहा कि विकेट अच्छा था लेकिन बाद में यह बदलने लगा था।

इंग्लिश कप्तान ने कहा कि महत्वपूर्ण टॉस था लेकिन उस पॉइंट से हमें बहुत अच्छे विकेट के माध्यम से फॉलो करना था। हमने बहुत अच्छा किया। विदेशी परिस्थितियों में 20 विकेट लेना गेंदबाजों का एक शानदार काम है। शुरू से ही पता था कि यह अच्छा विकेट होगा। पहली साझेदारी हमें मिली। विभिन्न स्टेज में खिलाड़ी आए और योगदान दिया। हमें यह जीतने का रास्ता मिला था और सौभाग्य से इस सप्ताह यह मौका मुझे मिला।

जो रूट का पूरा बयान

रूट ने कहा कि हम जानते थे कि भारत हम पर तगड़ी वापसी करेगा। 400 रन तक पहुंचने का विचार था। उस तरह से काफी कुछ नहीं किया। लेकिन वहां कुछ समय बिताने के बाद, मुझे पता था कि विकेट काफी बदल गया था और मैं यह भी जानता था कि यह फिर से बदलने वाला है। हम भारत की जीत को समीकरण से बाहर करना चाहते थे। एक गेंदबाजी समूह के रूप में हम रन रेट के बारे में चिंता नहीं करना चाहते थे। यहां खड़े होकर, पहला गेम जीतना बहुत ही सुखद है।

जेम्स एंडरसन
जेम्स एंडरसन

आगे उन्होंने कहा कि जिस तरह से वह (एंडरसन) चीजों के बारे में जाता है, खुद को लगातार चुनौती दे रहे हैं और 38 साल की उम्र में भी बेहतर कर रहे हैं। वह टीम के बाकी हिस्सों के लिए एक महान रोल मॉडल है। उनका कौशल स्तर वही है जो हमने कभी देखा है। गौरतलब है कि जेम्स एंडरसन ने अजिंक्य रहाणे, शुभमन गिल और ऋषभ पन्त को आउट कर मैच की दूसरी पारी में भारतीय टीक की स्थिति खराब कर दी थी।

Published 09 Feb 2021, 22:33 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now