केएल राहुल, रोहित शर्मा और विराट कोहली पर निशाना साधते हुए पूर्व भारतीय कप्तान ने दिया बड़ा बयान 

कपिल देव ने अहम मौकों पर इन दिग्गजों के असफल होने की बात कही है
कपिल देव ने अहम मौकों पर इन दिग्गजों के असफल होने की बात कही है

पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव (Kapil Dev) भारत के टॉप 3 बल्लेबाज के हालिया प्रदर्शन से बेहद निराश नजर आये। वर्ल्ड कप विजेता कप्तान ने केएल राहुल (KL Rahul), रोहित शर्मा (Rohit Sharma) और विराट कोहली (Virat Kohli) की आलोचना की, साथ ही कहा कि ये सभी अहम मौकों पर असफल नजर आये।

हाल ही में हुए आईपीएल के पन्द्रहवें संस्करण में विराट कोहली और रोहित शर्मा जैसे दिग्गज रनों के लिए जूझते दिखे। कोहली ने 16 मैचों में 341 रन बनाये। वहीँ रोहित शर्मा पूरे टूर्नामेंट के दौरान एक भी अर्धशतक नहीं लगा पाए। इसके अलावा लखनऊ सुपर जायंट्स के कप्तान केएल राहुल ने 600 से अधिक रन बनाये लेकिन कई मैचों में उनकी धीमी बल्लेबाजी सवालों के घेरे में रही।

शीर्ष तीन बल्लेबाजों की लगातार विफलता के बारे में बात करते हुए, कपिल देव ने टीम को मुसीबत में छोड़ने के लिए उनकी आलोचना की। उन्होंने कहा कि यह जानते हुए भी कि उनके आउट होने से दबाव बढ़ता है, ये 'बड़े खिलाड़ी' तब आउट हो जाते हैं जब उन्हें टेक ऑफ करने की जरूरत होती है।

यूट्यूब चैनल Uncut पर बात करते हुए कपिल देव ने कहा,

उनकी एक बड़ी प्रतिष्ठा है और उन पर बहुत बड़ा दबाव है, ऐसा नहीं होना चाहिए। आपको निडर क्रिकेट खेलना होगा। ये सभी ऐसे खिलाड़ी हैं जो 150-160 के स्ट्राइक रेट से हिट कर सकते हैं। जब भी हमें उनके रन बनाने की जरूरत होती है, वे सभी आउट हो जाते हैं। जब (पारी में) तेज खेलने का समय आता है, तो वे आउट हो जाते हैं। और यह दबाव बढ़ाता है। या तो आप एंकर के रूप में खेलो या स्ट्राइकर।

एप्रोच में बदलाव की जरूरत - कपिल देव

कपिल देव ने आगे राहुल के बारे में बात करते हुए कहा कि टीम में उन्हें अपने एप्रोच को लेकर स्पष्ट होना चाहिए। उन्होंने कहा,

अगर केएल राहुल की बात करें तो आपको उनसे 20 ओवर खेलने के बारे में बात करने की जरूरत है और अगर वह 80-90 रन बनाते हैं, तो यह काफी अच्छा है। लेकिन अगर आप 20 ओवर खेलते हैं, और आप नाबाद 60 रन बनाकर आ रहे हैं तो आप टीम के साथ न्याय नहीं कर रहे हैं।

यह पूछे जाने पर कि क्या टीम को T20I में अपना दृष्टिकोण बदलने की आवश्यकता है, भारत के पूर्व कप्तान ने कहा,

मुझे लगता है कि दृष्टिकोण बदलने की जरूरत है, अगर ऐसा नहीं होता है, तो आपको खिलाड़ियों को बदलना होगा। अगर वे बड़े खिलाड़ी हैं तो उन्हें टीम पर बड़ा प्रभाव डालने की जरूरत है। आप सिर्फ नाम की वजह से बड़े नहीं हैं, बल्कि परफॉर्मेंस में भी बड़े होने की जरूरत है। अगर आप बड़ा नाम हैं तो आपको ऐसे ही क्रिकेट खेलना चाहिए। अन्यथा, हम यहां इसके बारे में बात करने के लिए हैं।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar