Create
Notifications

केदार जाधव का रनआउट टर्निंग पॉइंट रहा : शेन वॉटसन

Naveen Sharma
FEATURED WRITER
Modified 21 Sep 2018
सनराइजर्स के हाथों आईपीएल के पहले मुकाबले में मिली हार के बाद रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के कार्यवाहक कप्तान शेन वॉटसन का बयान आयर है, इसमें उन्होंने हार के लिए सबसे बड़ा टर्निंग पॉइंट पर प्रतिक्रिया व्यक्त की है। वॉटसन के अनुसार बीच में काफी विकेट गंवाने के बाद 207 रन जैसे बड़े लक्ष्य तक पहुंचना मुश्किल हो गया। बकौल वॉटसन "207 रन एक बड़ा टोटल था तथा विकेट खेलने के हिसाब से अच्छा था। हमारी बल्लेबाजी के आधे समय तक भी यह ऐसा था। हम सनराइजर्स के टारगेट के बिलकुल साथ चल रहे थे' वॉटसन के अनुसार मिडिल में अधिक विकेट गंवाने से सनराइजर्स हैदराबाद को 35 रनों से जीत दर्ज करने में मदद मिली। युवराज सिंह की बल्लेबाजी को उन्होंने सुन्दर बताया तथा उनका कैच छूटने को सबसे बड़ी गलती भी बताया। इसके अलावा रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के कप्तान ने अन्य मुद्दों पर भी बात करते हुए कहा "केदार जाधव का रनआउट होना मैच का टर्निंग पॉइंट रहा। वास्तव में वे अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे। बेन कटिंग द्वारा यह शानदार कार्य था। इसके बाद पूरा खेल बदल गया। इसमें कोई शक नहीं है कि 207 रन काफी थे। हम फील्डिंग में कुछ ढीले थे तथा प्लान के अनुसार नहीं खेल पाए।" उन्होंने युवराज सिंह की बल्लेबाजी की तारीफ़ करते हुए कहा कि उनका कैच छूटना हमारी सबसे बड़ी गलती रही और हमें इसका भुगतान करना पड़ा। गौरतलब है कि सनराइजर्स हैदराबाद की पारी के दौरान युवराज सिंह का स्क्वेयर लेग पर एस अरविन्द ने कैच छोड़ दिया था। इसके बाद युवी ने 27 गेंदों पर ताबड़तोड़ 62 रनों की पारी खेली थी। उल्लेखनीय है कि आईपीएल के दसवें संस्करण के उद्घाटन मुकाबला खेलते हुए शेन वॉटसन ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला लिया था जो उनके लिए सही साबित नहीं हुआ। सनराइजर्स हैदराबाद ने 206 रनों का विशाल स्कोर खड़ा कर रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के समक्ष एक कठिन चुनौती पेश की। क्रिस गेल ने अपनी टीम को लक्ष्य तक पहुंचाने के लिए कुछ आकर्षक छक्के जरुर जड़े लेकिन उनके आउट होने के बाद विकेटों की झड़ी लग गई तथा वे 35 रनों से मैच गंवा बैठे।
Published 06 Apr 2017
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now