Create

केविन पीटरसन ने इंग्लैंड के 147 रनों पर आउट होने के बाद काउंटी सिस्टम पर उठाए सवाल

Australia v England - 1st Test: Day 1
Australia v England - 1st Test: Day 1
reaction-emoji
सावन गुप्ता

इंग्लैंड (England Cricket Team) के पूर्व क्रिकेटर केविन पीटरसन (Kevin Pietersen) ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एशेज सीरीज (Ashes Series) के पहले मुकाबले में टीम की खराब बल्लेबाजी के लिए काउंटी सिस्टम को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा है कि इंग्लैंड का काउंटी स्ट्रक्चर काफी खराब है और इसी वजह से प्लेयर्स के ऊपर सवाल उठाना सही नहीं है।

इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच बुधवार से पांच मैचों के एशेज टेस्ट सीरीज की शुरूआत हुई। इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग करने का फैसला किया जो पूरी तरह से गलत साबित हुआ। ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को पहली पारी में सिर्फ 147 रन पर समेट दिया और मेहमान टीम इसके बाद दबाव में आ गई।

वहीं केविन पीटरसन ने इस खराब परफॉर्मेंस के बाद कहा कि इंग्लैंड के काउंटी सिस्टम में काफी लंबे समय से कमी है और इसी वजह से वर्ल्ड क्लास बल्लेबाज निकलकर सामने नहीं आ रहे हैं। केविन पीटरसन ने ट्वीट करके कहा,

147 रनों पर पूरी टीम ऑल आउट हो गई और इसके लिए प्लीज खिलाड़ियों के दोष मत दीजिए। हमारा काउंटी सिस्टम काफी खराब है और इसकी वजह से आपको वर्ल्ड क्लास बल्लेबाज यहां से नहीं मिलेंगे। मैं सालों से ये कहते आ रहा हूं।
147 all out. Please don’t blame the players for not being good enough. The county system is completely flawed & WILL NOT produce enough tough & high quality batters. I’ve said this for years now - TOO MANY COUNTIES!

केविन पीटरसन ने ये भी कहा कि फ्रेंचाइज क्रिकेट की वजह से काउंटी का स्तर उतना अच्छा नहीं रह गया है। पीटरसन के मुताबिक युवा खिलाड़ियों को दिग्गज प्लेयर्स के साथ खेलने का मौका ही नहीं मिल पाता है। इसकी वजह ये है कि ज्यादातर सीनियर खिलाड़ी अब टी20 लीग को ज्यादा महत्व देने लगते हैं। केविन पीटरसन ने कहा,

फ्रेंचाइज टी20 क्रिकेट के आने के बाद काउंटी का स्तर नीचे आता गया है। इसकी वजह ये है कि जो बेहतरीन प्लेयर हैं वो काउंटी में खेलने की बजाय टी20 में खेल रहे हैं। वहां कम काम में ज्यादा पैसे मिलते हैं।
Since the inception of franchise T20 cricket, the standard of county cricket has gone down. Main reason - the best internationals are playing T20 rather than taking pounds in CC. Work less, paid more. Knock on effect is that CC standard has dropped considerably.

Edited by सावन गुप्ता
reaction-emoji

Comments

Quick Links

More from Sportskeeda
Fetching more content...