बल्लेबाजी बेहतर होती तो पिंक बॉल टेस्ट 3 से 4 दिन चलता- केविन पीटरसन  

इंग्लैंड (England) पूर्व बल्लेबाज केविन पीटरसन (Kevin Pietersen) ने भारत (India) और इंग्लैंड दोनों के बल्लेबाजी के दृष्टिकोण को कम करार दिया और कहा कि अगर बल्लेबाजी का प्रदर्शन बेहतर होता तो पिंक-बॉल टेस्ट 3 या दिन 4 तक भी चला जाता। अहमदाबाद में पिंक बॉल टेस्ट मुकाबले के दूसरे दिन टीम इंडिया की जीत के बाद केविन पीटरसन ने अपनी राय रखी।

अपने इन्स्टाग्राम अकाउंट पर केविन पीटरसन ने कहा कि मैं टेस्ट मैच के बारे में बताना चाहता हूँ कि यह क्यों जल्दी खत्म हुआ। पीटरसन ने कहा कि दोनों टीमों की तरफ से बल्लेबाजी में प्रदर्शन खराब रहा। 30 विकेट गिरे जिनमें से 21 विकेटसीधी रहने वाली गेंदों पर गिरे। अगर बल्लेबाजी बेहतर होती तो यह मुकाबला तीसरे या चौथे दिन पर जा सकता था।

केविन पीटरसन ने पिच पर उठाया था सवाल

मैच खत्म होने के तुरंत बाद केविन पीटरसन ने अहमदाबाद की पिच को लेकर भी कुछ सवाल उठाए थे। उन्होंने हिन्दी में ट्वीट करते हुए लिखा था कि एक मैच के लिए ऐसा विकेट ठीक है जहाँ बल्लेबाज के कौशल और तकनीक का टेस्ट हो। मैं इस तरह का विकेट और नहीं देखना चाहता। मुझे लगता है कि सभी खिलाड़ी भी ऐसा नहीं चाहते।

इससे पहले चेन्नई टेस्ट मैच के बाद भी केविन पीटरसन ने सवाल उठाया था। अहमदाबाद में इंग्लिश टीम के सस्ते में आउट होने के बाद केविन पीटरसन ने कहा था कि टॉस जीतने के बाद बिना मदद वाली पिच बनाने की योजना थी।

भारतीय टीम ने पिंक बॉल टेस्ट के दौरान इंग्लैंड की टीम को पूरी तरह से पीछे धकेल दिया। पहला मैच जीतकर उत्साह से लबरेज नजर आ रही इंग्लिश टीम के बल्लेबाजों पर अचानक अंकुश लगा और इसका श्रेय भारतीय टीम के स्पिनरों को ही जाता है जिन्होंने बेहतर लाइन औत लेंथ के साथ गेंदबाजी करना उचित समझा।

Quick Links

Edited by निरंजन