IND vs ENG: 190 रनों की बढ़त के बावजूद भारत को होना पड़ा इंग्लैंड के खिलाफ निराश, हार का चौंकाने वाला आंकड़ा आया सामने 

(Photo Courtesy: BCCI)
(Photo Courtesy: BCCI)

हैदराबाद में खेले गए पांच मैचों की टेस्ट सीरीज (IND vs ENG) के पहले मुकाबले में भारत को बड़ा झटका लगा और इंग्लैंड ने 28 रनों से जीत दर्ज करते हुए 1-0 की बढ़त बनाई। इस मैच का चौथा दिन काफी रोमांचक रहा और इंग्लिश टीम ने अपने हार ना मानने वाले जज्बे से भारतीय टीम को मात दी। इस हार से भारतीय फैंस काफी निराश हैं। वहीं अब एक चौंकाने वाला आंकड़ा भी सामने आया है, जिसमें बताया गया कि भारत की 190 रनों की बढ़त दूसरी सबसे ज्यादा थी, जब उसे किसी एक टेस्ट मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा हो।

राजीव गाँधी इंटरनेशनल स्टेडियम में इंग्लैंड की पहली पारी को 246 पर समेटने के बाद भारतीय टीम ने 436 रनों का विशाल स्कोर बनाया था और 190 रनों की बढ़त हासिल की थी। बड़ी बढ़त के कारण ज्यादातर लोग यही मान रहे थे कि इंग्लैंड के लिए मुकाबले में वापसी लगभग नामुमकिन ही है लेकिन ओली पोप के 196 रन और अन्य बल्लेबाजों के उपयोगी योगदान से टीम ने अपनी दूसरी पारी में 420 रन बनाये और भारत को जीत के लिए 231 रनों का लक्ष्य दिया।

लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत की शुरुआत अच्छी रही और ओपनिंग बल्लेबाजों ने 42 रन जोड़े। हालाँकि, यहाँ से यशस्वी जायसवाल आउट हुए और फिर विकेटों का सिलसिला शुरू हो गया और देखते ही देखते स्कोर 119/7 हो गया। आठवें विकेट के लिए केएस भरत और रविचंद्रन अश्विन ने अर्धशतकीय साझेदारी से जीत की उम्मीद जगाई लेकिन इनके आउट होते ही भारत की हार तय हो गई और फिर टीम 202 का स्कोर बनाकर ढेर हो गई।

इस तरह भारत को एक विशाल बढ़त के बावजूद हार झेलनी पड़ी। यह दूसरी सबसे बड़ी बढ़त थी, जब भारत को हार मिली। इससे पहले साल 2015 में गाले में खेले गए मुकाबले में श्रीलंका के खिलाफ भारत ने पहली पारी के आधार पर 192 रनों की बढ़त हासिल की थी लेकिन उसे 63 रनों से मैच में हार मिली थी।

आइये नजर डालते हैं उन पांच सबसे बड़ी बढ़त पर, जब भारत को हार झेलनी पड़ी:

192 बनाम श्रीलंका, गाले 2015

190 बनाम इंग्लैंड, हैदराबाद 2024

132 बनाम इंग्लैंड, बर्मिंघम 2022

80 बनाम ऑस्ट्रेलिया, एडिलेड 1992

69 बनाम ऑस्ट्रेलिया, सिडनी 2008

Quick Links

Edited by Prashant Kumar