Create
Notifications

'मैं हमेशा से ही क्रिकेट के सभी प्रारूप में खेलना चाहता था'

Naveen Sharma
visit

बांग्लादेश (Bangladesh) के ऑफ स्पिनर मेहदी हसन मिराज (Mehidy Hasan Miraz) को उनके करियर की शुरुआत में एक टेस्ट विशेषज्ञ के रूप में जाना जाता था। हालाँकि इस ऑफ स्पिनर ने वनडे में आईसीसी रैंकिंग में दूसरा स्थान हासिल कर छोटे प्रारूप की परिभाषा बदल दी। शाकिब अल हसन और अब्दुर रज्जाक के बाद वह तीसरे बांग्लादेशी हैं जो वनडे रैंकिंग में टॉप 2 तक आए।

श्रीलंका के खिलाफ तीसरे वनडे मैच से पहले उन्होंने कहा कि मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं वनडे रैंकिंग में नंबर 2 पर पहुंच सकता हूं, इसलिए मैं बहुत अच्छा महसूस कर रहा हूं। जब मैंने शुरुआत की थी तब मैं एक टेस्ट विशेषज्ञ था लेकिन मैं हमेशा सभी प्रारूपों को सफलतापूर्वक खेलना चाहता था। जब मैंने वनडे खेलना शुरू किया तो मैं टीम में योगदान देना चाहता था। मैंने इकॉनमी रेट पर ध्यान दिया क्योंकि इससे मैं टीम में बना रहूंगा और मुझे सफलताएं हासिल करने में मदद मिलेगी।

मेहदी हसन का पूरा बयान

बांग्लादेश के इस खिलाड़ी ने श्रीलंका के खिलाफ गेंदबाजी को लेकर कहा कि मैंने योजना बनाई ताकि बल्लेबाज मुझ पर हावी न हो सकें। छोटी-छोटी चीजों से फर्क पड़ता है। उल्लेखनीय है कि मेहदी ने श्रीलंका के खिलाफ पहले दो मैचों में सात विकेट हासिल किए और ढाका में शुक्रवार को होने वाले फाइनल मैच में बांग्लादेश को सीरीज में 3-0 से जिताने की उम्मीद करेंगे।

मेहदी के करियर का टर्निंग पॉइंट तीन साल पहले कैरेबियाई दौरे पर आया था, जब उन्होंने 3 विकेट लिए थे लेकिन उनका इकोनॉमी रेट 4.06 था। इसके बाद उन्होंने इंग्लैंड में 2019 विश्व कप में छह विकेट झटके, जहां स्पिनरों के लिए परिस्थितियां अनुकूल नहीं थीं।

बांग्लादेश की टीम ने श्रीलंका को शुरुआती दो वनडे मैचों में हरा दिया है और पहली बार वनडे सीरीज पर कब्जा जमा लिया। अंतिम मैच में बांग्लादेश का खेल देखने लायक होगा।


Edited by Naveen Sharma
Article image

Go to article

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now