"अपना फ़ोन उठाकर कुछ भी लिखना आसान है" - अपनी आलोचना को लेकर मुंबई इंडियंस के ओपनर ने दी बड़ी प्रतिक्रिया

इशान किशन का भी फॉर्म निरंतर नहीं रहा है
इशान किशन का भी फॉर्म निरंतर नहीं रहा है

आईपीएल 2022 (IPL 2022) से पहले मेगा ऑक्शन में सबसे महंगे बिकने वाले इशान किशन (Ishan Kishan) उम्मीदों के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाए हैं और इसी वजह से उनकी आलोचना भी हो रही है। हालांकि विकेटकीपर-बल्लेबाज ने खराब फॉर्म को लेकर हो रही अपनी आलोचनाओं को खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि उन्हें इस चीज से कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता है कि लोग क्या कह रहे हैं या लिख रहे हैं।

इशान किशन को मुंबई ने अपने ऑक्शन इतिहास का सबसे महंगा खिलाड़ी बनाते हुए 15.25 करोड़ की बड़ी रकम देकर खरीदा था। किशन ने टूर्नामेंट की अच्छी शुरुआत की थी और शुरू में कुछ अर्धशतकीय पारियां भी खेली थी लेकिन इसके बाद उनके प्रदर्शन गिरावट आई और वह संघर्ष करते हुए दिखे। इस सीजन इशान 11 मैचों में 117.15 के स्ट्राइक रेट से 321 रन बना चुके हैं और उनका बल्लेबाजी औसत 32.10 का है।

12 मई को मुंबई इंडियंस को अपने अगले मुकाबले में चेन्नई सुपर किंग्स का सामना करना है। मैच से पहले इशान किशन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में अपनी आलोचना को लेकर कहा,

सर, मैं यह नहीं देखता कि लोग क्या कह रहे हैं। बाहर से आप कुछ भी कह सकते हैं जो आप चाहते हैं क्योंकि आप खिलाड़ियों की स्थिति में नहीं हैं। अपना फ़ोन उठाना और कुछ लिखना आसान है। सोशल मीडिया पर लोग क्या कमेंट करते हैं, इससे मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता। अगर ऐसी बातें लिखने में उन्हें खुशी मिलती है, तो रहने दीजिए। मैं परेशान नहीं होता।

प्राइस टैग को लेकर रोहित और विराट से मिली सलाह का किया खुलासा

आईपीएल में हमने अक्सर देखा है कि महंगे बिकने वाले खिलाड़ी पर अक्सर अतिरिक्त दबाव होता है और कुछ ऐसी ही स्थिति इशान की भी रही होगी। इशान ने इससे इंकार नहीं किया, लेकिन जोर देकर कहा कि रोहित शर्मा, विराट कोहली और हार्दिक पांड्या जैसे सीनियर खिलाड़ियों के साथ बातचीत करने से उन्हें सही दिशा में ध्यान केंद्रित करने में मदद मिली। उन्होंने कहा,

ऑक्शन के बाद अधिकतम एक से दो दिन तक प्राइस टैग का दबाव आप पर रहेगा। लेकिन इस स्तर पर, आपको यह समझना होगा कि 'मैं ऐसी बातों को ध्यान में नहीं रख सकता और मुझे केवल इस बात पर ध्यान देना है कि मैं अपनी टीम को जीतने में कैसे मदद करूं'। जब मैंने आरसीबी के खिलाफ मैच के दौरान रोहित भाई या विराट कोहली भाई से बात की थी कर हार्दिक भाई, तो सभी ने मुझसे एक ही बात कही, 'तुम्हें प्राइस टैग के बारे में सोचने की जरूरत नहीं है' क्योंकि यह ऐसा कुछ नहीं है जो तुमने मांगा है। टीम को तुम पर भरोसा था, इसलिए उन्होंने पैसा खर्च किया।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
App download animated image Get the free App now