Create

मोहम्‍मद हफीज ने पीसीबी प्रमुख की नियुक्ति प्रक्रिया पर सवाल उठाए

मोहम्‍मद हफीज ने पीसीबी प्रमुख की नियुक्ति प्रक्रिया पर सवाल उठाए हैं
मोहम्‍मद हफीज ने पीसीबी प्रमुख की नियुक्ति प्रक्रिया पर सवाल उठाए हैं

पाकिस्तान (Pakistan Cricket team) के पूर्व कप्तान मोहम्मद हफीज (Mohammad Hafeez) ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) प्रमुख की नियुक्ति की प्रक्रिया के अलावा घरेलू क्रिकेट में टीम की संख्या घटाने के फैसले पर सवाल उठाए हैं।

जियो समाचार चैनल पर हफीज ने घरेलू क्रिकेट से विभागीय और बैंक टीम को खत्म करने के फैसले की भी आलोचना करते हुए कहा कि इसके कारण कई घरेलू क्रिकेटर बेरोजगार हो गए और उनका कोई भविष्य नहीं है।

पीसीबी ने दो साल पहले प्रधानमंत्री इमरान खान के निर्देश पर विभागीय और बैंक टीम की भूमिका खत्म कर दी थी। इमरान खान अपने खेलने वाले दिनों में घरेलू क्रिकेट में राष्ट्रीय विमान कंपनी और अन्य विभागों की ओर से काफी क्रिकेट मैच खेले हैं।

हाल में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी प्रारूप से संन्यास की घोषणा करने वाले मोहम्‍मद हफीज ने पीसीबी अध्यक्ष की चयन प्रक्रिया पर भी सवाल उठाए। हफीज ने कहा कि बोर्ड अध्यक्ष पद के लिए उचित चुनाव होने चाहिए और वह बोर्ड के मुख्य संरक्षक यानी प्रधानमंत्री द्वारा नामित नहीं होना चाहिए।

मिस्‍टर प्रोफेसर के नाम से लोकप्रिय हफीज ने कहा, 'मौजूदा प्रक्रिया सही नहीं है क्योंकि मौजूदा समय में पीसीबी अध्यक्ष का चुनाव चयन प्रणाली के तहत होता है और पीसीबी अध्यक्ष के चयन के लिए यह प्रक्रिया सही नहीं है। पीसीबी अध्यक्ष राजनीतिक आधार पर चुना जाता है और जिस अध्यक्ष का चयन राजनीति रूप से होता है वह क्रिकेट बिलकुल नहीं समझता।'

हफीज ने सुझाव दिया कि क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष को चुनाव प्रक्रिया के जरिए चुना जाना चाहिए। पाकिस्तान के पूर्व कप्तान रमीज राजा पीसीबी के मौजूदा अध्यक्ष हैं। हफीज ने पाकिस्तान की ओर से 55 टेस्ट, 218 वनडे और 119 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले हैं। टी20 वर्ल्ड कप 2021 के बाद उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया।

मोहम्‍मद हफीज ने हाल ही में लीजेंड्स लीग क्रिकेट में हिस्‍सा लिया था। उन्‍होंने एशिया लायंस का प्रतिनिधित्‍व किया था। एशिया लायंस की टीम लीजेंड्स लीग क्रिकेट के फाइनल में पहुंची थी, जिसे वर्ल्‍ड जायंट्स ने 25 रन से मात देकर खिताब जीता।

Quick Links

Edited by Vivek Goel
Be the first one to comment