Create
Notifications

"जरूरत पड़ी तो मुस्ताफ़िज़ुर रहमान को टेस्ट क्रिकेट खेलना होगा" - बीसीबी अध्यक्ष ने तेज गेंदबाज को लेकर दी कड़ी प्रतिक्रिया 

मुस्ताफ़िज़ुर रहमान को लेकर बीसीबी अध्यक्ष ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है
मुस्ताफ़िज़ुर रहमान को लेकर बीसीबी अध्यक्ष ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है
reaction-emoji
Prashant Kumar

शनिवार (23 अप्रैल) को, बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (BCB) के अध्यक्ष नजमुल हसन ने कहा कि यदि टीम को मुस्ताफ़िज़ुर रहमान (Mustafizur Rahman) की जरूरत होगी तो उन्हें टेस्ट क्रिकेट खेलना होगा। मुस्ताफ़िज़ुर ने हाल ही में कहा था कि वह टेस्ट क्रिकेट में वापसी के लिए तैयार नहीं हैं और उन्हें अपने करियर को आगे बढ़ाने के लिए प्रारूप चुनने की जरूरत है।

क्रिकबज द्वारा रिपोर्ट किए जाने के बाद कि बीसीबी के अधिकारी टेस्ट क्रिकेट में उनके भविष्य के बारे में उनसे बात करने के लिए तैयार थे। बाएं हाथ के गेंदबाज ने भी अपनी स्थिति साफ कर दी। मुस्ताफ़िज़ुर ने यह भी कहा कि वह बीसीबी अध्यक्ष से मुलाकात कर उन्हें अपनी स्थिति से अवगत कराएंगे, हालांकि उन्होंने जोर देकर कहा कि नजमुल को सभी घटनाक्रमों के बारे में पता था।

शनिवार को रिपोर्टर्स से बात करते हुए नजमुल ने कहा,

मुझे समझाने दीजिये, हमने खिलाड़ियों को उस प्रारूप को इंगित करने के लिए एक अनुबंध पत्र प्रदान किया है जिसे वे खेलना चाहते हैं। हमने उन लोगों को सूचीबद्ध किया है जिन्होंने घोषित किया है कि वे तीन प्रारूप, टेस्ट, या दो प्रारूपों में खेलना चाहते हैं। मुस्ताफ़िज़ुर ने टेस्ट के लिए अपना नाम नहीं लिखा और ना ही उसने टेस्ट खेलने के बारे में कुछ कहा।
इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि वह हां कहता है या नहीं क्योंकि अगर हमें उसकी जरूरत है, तो उसे खेलना होगा। यदि आवश्यक हो तो हम निश्चित रूप से उसे श्रीलंका सीरीज के लिए बुला सकते हैं। देखिए तस्कीन, शोरिफुल और एबादत हैं, और ये तीन क्रिकेटर टेस्ट के लिए हैं, इसलिए अगर मैं मुस्ताफ़िज़ुर को वहां रखता हूं, तो हम कभी नहीं जान पाएंगे कि प्रबंधन या कोचिंग स्टाफ उसे खिलायेगा या नहीं। लेकिन जब उसकी जरूरत होगी (टेस्ट के लिए) तो उसे जरूर खेलना होगा। इसमें कोई समस्या नहीं है

2015 में अपने टेस्ट डेब्यू के बाद से मुस्ताफ़िज़ुर बांग्लादेश के 39 टेस्ट मैचों में से सिर्फ 14 में ही शामिल हुए हैं। बाएं हाथ के तेज गेंदबाज को सात टेस्ट से बाहर रखा गया था क्योंकि बीसीबी ने उनके आग्रह के कारण उन्हें टेस्ट अनुबंध सूची में शामिल नहीं किया था। ज़िम्बाब्वे के खिलाफ एकमात्र मैच में बांग्लादेश ने उनकी सेवाएं मिस की थी। इसके अलावा पाकिस्तान, न्यूजीलैंड और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज के लिए वह उपलब्ध नहीं थे।

हालांकि श्रीलंका के खिलाफ पहले टेस्ट के लिए घोषित किये गए स्क्वाड में मुस्ताफ़िज़ुर रहमान को नहीं चुना गया है। देखना होगा कि क्या उन्हें बाद में टेस्ट टीम में शामिल किया जाता है या नहीं।


Edited by Prashant Kumar
reaction-emoji

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...