Create
Notifications

क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में जगह बनाना मेरा पहला लक्ष्य है: हेनरी निकोलस

शादाब अली
visit

न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के बल्लेबाज़ हेनरी निकोलस ने कहा है कि क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में खेलना उनका पहला लक्ष्य है। साथ ही उन्होंने किसी भी बल्लेबाज़ की रन बनाने की शैली को सबसे बड़ी मुद्रा बताया है। आपको बता दें कि हेनरी निकोलस ने अपने घरेलू क्रिकेट में ज़बरदस्त प्रदर्शन किया है जिसके बाद अभी भी उनको न्यूजीलैंड की राष्ट्रिय टीम में जगह नहीं मिल सकी है। हेनरी निकोलस ने अपना सबसे पहला एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैच 2015 में श्रीलंका के खिलाफ खेला था और तभी से वह केवल 11 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में ही अपनी राष्ट्रीय टीम का हिस्सा रहे हैं। बाएं हाथ के बल्लेबाज़ हेनरी निकोलस ने एक पत्रकार वार्ता में कहा "जब आप वापस घरेलू स्तर पर आते हैं, तो आपको राष्ट्रीय टीम में वापसी करने के लिए एड़ी तक के जोर लगाने पड़ जाते हैं, अपने आपको सिद्ध करने के लिए आपको ज्यादा से ज्यादा रन बनाने पड़ते हैं, जो किसी भी बल्लेबाज़ की सबसे बड़ी मुद्रा होती है" यह भी पढ़िए: अनिल कुंबले ने जमकर बांधे विराट कोहली और एमएस धोनी की तारीफों के पुल इसके बाद उन्होंने कहा "मैं अपने आपको और भी बेहतर बनाने की कोशिश में लगा हूँ साथ ही मैं अपने खेल को भी निखार ने की भरपूर कोशिश कर रहा हूँ, आप हमेशा ही क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में अपनी टीम का हिस्सा बनना चाहते हैं और आप सबसे बड़े दर्जे पर अपना प्रदर्शन दिखाना चाहते हैं, यही मेरा सबसे बड़ा लक्ष्य है" बताते चलें कि 25 वर्षीय हेनरी निकोलस ने न्यूजीलैंड की तरफ से 11 टेस्ट, 11 एकदिवसीय और सिर्फ 1 टी20 खेला है। जहां उन्होंने अपने टेस्ट करियर में 4, एकदिवसीय करियर में 2 और टी20 करियर में एक भी अर्धशतक नहीं जमाया है। इसके अलावा हेनरी निकोलस ने अपने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 50 मैच खेले हैं जहां उन्होंने 18 अर्धशतक और 4 शतक जमाए हैं। इस दौरान उनका बल्लेबाजी रन औसत 36.27 का रहा है। इसके अलावा उनका उच्चतम स्कोर 144* पर नाबाद का रहा है। गौरतलब है कि न्यूजीलैंड की टीम इस समय दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ द्विपक्षीय सीरीज खेलने में व्यस्त है।


Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now