IND vs AUS : 'माही भाई ने बताया था'- रिंकू सिंह को फिनिशर की भूमिका में ढालने में एमएस धोनी का है अहम रोल, युवा बल्लेबाज ने किया खुलासा

Neeraj
रिंकू सिंह फिनिशर की भूमिका में फैंस को काफी पसंद आ रहे हैं
रिंकू सिंह फिनिशर की भूमिका में फैंस को काफी पसंद आ रहे हैं

विशाखापट्टनम में खेले गए पांच मैचों की टी20 के पहले मुकाबले में टीम इंडिया ने अंतिम गेंद पर ऑस्टेलिया (IND vs AUS) के खिलाफ दो विकेट से रोमांचक जीत दर्ज की। इस जीत में 26 वर्षीय रिंकू सिंह (Rinku Singh) की अहम भूमिका रही, जिन्होंने आखिरी गेंद पर शानदार छक्का लगाया। हालाँकि, ये काउंट नहीं हुआ था। बाएं हाथ के बल्लेबाज ने मैच के बाद अपनी पारी पर प्रतिक्रिया दी। उन्होंने बताया कि प्रेशर वाली स्थिति को हैंडल करना मैंने महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) से सीखा है।

शुक्रवार को बीसीसीआई ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो शेयर किया। वीडियो में रिंकू सिंह अपनी पारी को लेकर बातचीत करते नजर आ रहे हैं। उन्होंने कहा, 'काफी अच्छा है हम मैच जीत गए। जब मैं बल्लेबाजी करने गया था तब मेरे लिए परफेक्ट सिचुएशन थी, मैं जो हमेशा करता आया हूं, वही करना था। सूर्या (सूर्यकुमार यादव) भईया के साथ में काफी अच्छा महसूस कर रहा था। मैं यही सोच रहा था कि मैच को आखिर तक ले जाऊंगा और फिर फिनिश करूँगा।'

इसके बाद रिंकू सिंह ने प्रेशर वाली स्थिति में शांत रहने के पीछे की वजह बताई। 26 वर्षीय बल्लेबाज ने कहा, 'माही भाई (महेंद्र सिंह धोनी) से एक-दो बार बात हुई थी, तो मैंने उनसे पूछा था कि आप अंतिम ओवरों में शांत कैसे रहते हो?'

उन्होंने कहा था कि, 'आप जितना शांत रहोगे और जितना सीधा मारने की कोशिश करोगे उतना ही अच्छा रहेगा। मैं वही चीज फॉलो करता हूँ और शांत रहता हूँ। किसी तरह का रिएक्शन नहीं देता हूँ। मेरे लिए यही फायदा करता है।'

आप भी देखें यह वीडियो:

इस दौरान बाएं हाथ के विस्फोटक बल्लेबाज ने खुलासा करते हुए बताया कि मुझे नहीं पता कि मैंने आखिरी गेंद में जो छक्का लगाया था, वो नो बॉल थी। ड्रेसिंग रूम में अर्शदीप भाई (अर्शदीप सिंह) भाई ने मुझे इसके बारे में बताया था। लेकिन अच्छी बात ये रही कि हम मच जीत गए।

गौरतलब है कि इस मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने पहले बैलबाजी करते हुए जोश इंग्लिस (110) की शतकीय पारी की मदद से तीन विकेट खोकर 208 रन बनाये थे। जवाबी पारी में मेजबानों ने इस टारगेट को कप्तान सूर्यकुमार यादव (80) और इशान किशन (58) की अर्धशतकीय पारियों की मदद से एक गेंद शेष रहते आठ विकेट खोकर हासिल कर लिया।

Quick Links

Edited by Rahul