Create
Notifications

केएल राहुल के आने से टीम सेलेक्‍शन में होने वाली सिरदर्दी को लेकर पूर्व दिग्‍गज क्रिकेटर ने दिया बयान

सोमवार को राहुल ने अभ्यास सत्र में हिस्सा लिया था
सोमवार को राहुल ने अभ्यास सत्र में हिस्सा लिया था
Prashant Kumar
visit

केएल राहुल (KL Rahul) भारतीय टीम के साथ जुड़ चुके हैं और वह बुधवार को होने वाले मैच (IND vs WI) के लिए उपलब्ध रहेंगे। ऐसे में टीम इंडिया के सामने चयन को लेकर समस्या कड़ी हो गयी है कि किसे बाहर बिठाकर राहुल को खिलाया जाए। पूर्व भारतीय खिलाड़ी आकाश चोपड़ा की भी प्रतिक्रिया आई, जिनके मुताबिक राहुल की वापसी के बाद चयन को लेकर भारतीय टीम की सिरदर्दी बढ़ गयी है। राहुल पहले मैच के लिए उपलब्ध नहीं थे।

केएल राहुल के लिए दो ही स्थानों पर जगह बन सकती है, या तो वो ओपन करें या फिर मध्यक्रम में खेले। अगर वह ओपन करेंगे तो ईशान किशन को ड्रॉप किया जा सकता है लेकिन अगर मध्यक्रम में खेलते हैं तो फिर सूर्यकुमार यादव और दीपक हूडा में किसी एक को बाहर का रास्ता दिखाया जा सकता है।

ईएसपीएन क्रिकइन्फो पर चर्चा के दौरान, चोपड़ा ने स्वीकार किया कि केएल राहुल को प्लेइंग इलेवन में शामिल करने के लिए मैनेजमेंट को एक कठिन निर्णय करना होगा। चोपड़ा ने कहा,

मैनेजमेंट केएल राहुल को खिलाना चाहता है। यह एक कठिन निर्णय है और जिसे भी बाहर बैठना पड़ेगा, उसके साथ अन्याय है। अगर इस तरह देखा जाए कि इशान किशन पहले टीम में नहीं थे लेकिन वह इसलिए खेले क्योंकिं रुतुराज गायकवाड़ और शिखर धवन को कोरोना हुआ था, तो अगर राहुल पिछले मैच में होता तो किशन को मौका नहीं मिलता। इसलिए राहुल को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज की तरह ओपनिंग जारी रखनी चाहिए।

मैं गेंदबाजी में कोई बदलाव नहीं करूंगा - आकाश चोपड़ा

भारतीय गेंदबाजों ने पहले मैच में अच्छा प्रदर्शन किया था और मेहमान टीम को 176 के स्कोर पर समेट दिया था। इसी वजह से चोपड़ा ने दूसरे मैच में भी उसी लाइनअप के साथ उतरने की बात कही। उन्होंने कहा,

मध्य क्रम के बल्लेबाजों को 2-3 गेम मिलने चाहिए ताकि वे प्लेइंग इलेवन में अपनी जगह पक्की करने की कोशिश कर सकें। दूसरे वनडे के लिए अगर पिच ऐसी होती तो कुलदीप और चहल साथ खेल सकते थे, अच्छा मौका होगा, गेंद काफी टर्न ले रही थी. यह कहना मुश्किल है कि यह कौन सी पिच होगी, यहां दो तरह की पिचें हैं, एक लाल मिट्टी वाली और एक काली मिट्टी वाली। यदि आप 3 स्पिनरों के साथ खेल रहे हैं तो ड्यू फैक्टर पर भी विचार करना होगा। मेरे अनुसार, गेंदबाजी में कोई बदलाव की जरूरत नहीं है क्योंकि उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया है।

Edited by Prashant Kumar
Article image

Go to article

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now