Create

आईसीसी ने कोरोना के कारण अहम नियमों में किया बदलाव

क्रिकेट के काफी अहम नियमों में हुए हैं बदलाव
क्रिकेट के काफी अहम नियमों में हुए हैं बदलाव
मयंक मेहता

आईसीसी ने अपनी वेबसाइट पर आधिकारिक स्टेटमेंट जारी करते हुए कोरोना बाद शुरू होने वाले क्रिकेट के नियमों में अहम बदलाव किए हैं। आईसीसी चीफ एक्सिक्यूटिव ने यह फैसले अनिल कुंबले की अध्यक्षता वाली क्रिकेट कमेटी द्वारा दिए गए सुझाव के बाद लिए हैं। इनमें सबसे मुख्य है कि अब टीमों को कोरोना सब्स्टिट्यूट की मंजूरी दे दी है।

इसके अलावा गेंद पर लार लगाने को भी अब आधिकारिक तौर पर बैन कर दिया गया है और साथ ही में डीआरएस को लेकर भी अहम बदलाव किया गया है। आईसीसी ने न्यूट्रल अंपायर्स को लेकर भी बड़ा फैसला लिया है।

आईसीसी द्वारा किए गए नियमों में बदलाव इस प्रकार हैं:

-कोविड रिप्लेसमेंट

टेस्ट मैच के दौरान अगर किसी खिलाड़ी के अंदर कोविड 19 के लक्षण नजर आते हैं, तो टीम को रिप्लेसमेंट मिल सकता है। मैच रेफरी सब्स्टिट्यूट खिलाड़ी को मंजूरी देगा। हालांकि आईसीसी ने साफ किया कि यह नियम सिर्फ टेस्ट मैचों के लिए ही हैं। आपको बता दें कि कोविड रिप्लेसमेंट के नियम भी कनकशन रिप्लेसमेंट की तरह ही होंगे, जिसमें अगर बल्लेबाज बाहर होता है, तो उसकी जगह दूसरा बल्लेबाज या फिर अगर गेंदबाज है, तो उसकी जगह गेंदबाज ही लेगा।

गेंद पर लार लगाना

कोई भी खिलाड़ी गेंद को चमकाने के लिए लार का इस्तेमाल नहीं करेगा। अगर लगातार ऐसा किया जाता है, तो टीम को चेतावनी दी जाएगी। हर टीम को प्रति इन्निंग दो वॉर्निंग दी जाएगी, लेकिन इसके बाद भी लार का इस्तेमाल किया जाता है तो बल्लेबाजी करने वाली टीम को 5 रन पेनल्टी के दिए जाएंगे।

नॉन न्यूट्रल अंपायर्स

आईसीसी ने अंपायर्स को लेकर अहम नियम में भी बड़ा बदलाव किया है और अब मैचों में घरेलू अंपायर्स ही अंपायरिंग करते हुए नजर आएंगे। आईसीसी ने इस नियम में बदलाव कोविड 19 को देखते हुए इंटरनेशनल ट्रेवल पर लगी रोक के कारण लिया है। आईसीसी घरेलू अंपायर्स को मैचों के लिए नियुक्त करेगी।

डीआरएस

आईसीसी ने इस बात को भी कंफर्म किया है कि हर टीम को मैच की प्रति पारी में अतिरिक्त डीआरएस रिव्यू मिलेगा। आईसीसी ने ऐलान किया है कि टेस्ट में हर टीम को 3, तो वाइट बॉल फॉर्मेट के लिए प्रति टीम को 2 रिव्यू मिलेंगे।

आईसीसी क्रिकेट ऑपरेशन टीम मैच रेफरी को कोड ऑफ कंडक्ट के उल्लंघन को लेकर मैच रेफरी की मदद करेंगे। इसके अलावा न्यूट्रल एलीट पैनल मैच रेफरी वीडियो लिंक के जरिए इस तरह के मामलों की सुनवाई करेंगे।

यह भी पढ़ें: राहुल द्रविड़ द्वारा सभी फॉर्मेट में खेले गए आखिरी मैच में किए गए प्रदर्शन पर एक नजर


Edited by मयंक मेहता

Comments

Fetching more content...