Create

टी नटराजन ने कराई घुटने की सर्जरी, बीसीसीआई ने जल्‍द ठीक होने की शुभकामनाएं दी

टी नटराजन
टी नटराजन

टीम इंडिया और सनराइजर्स हैदराबाद (Sunrisers Hyderabad) के तेज गेंदबाज टी नटराजन ने मंगलवार को घुटने की सर्जरी कराई। टी नटराजन ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट के जरिये इसकी जानकारी दी।

टी नटराजन ने ट्वीट किया, 'आज मैंने घुटने की सर्जरी कराई। मैं खुशनसीब हूं कि विशेषज्ञों, मेडिकल टीम के सर्जन, डॉक्‍टर्स, नर्स और स्‍टाफ का ध्‍यान अच्‍छे से मिला। मैं बीसीसीआई और उन सभी का आभारी हूं, जिन्‍होंने मेरे ठीक होने की प्रार्थना की।'

टी नटराजन के ट्वीट पर बीसीसीआई ने जवाब दिया, 'टी नटराजन आपके जल्‍द ठीक होने की कामना करते हैं। हम आपको जल्‍द ही दोबारा मैदान पर देखना चाहते हैं।'

याद दिला दें कि टी नटराजन घुटने की चोट के कारण इंडियन प्रीमियर लीग 2021 (IPL 2021) से बाहर हो गए हैं। टी नटराजन ऑस्‍ट्रेलिया दौरे के बाद से इस चोट से जूझ रहे हैं। नटराजन ने इंग्‍लैंड के खिलाफ सीमित ओवर सीरीज में हिस्‍सा लिया और फिर आईपीएल में केवल दो ही मैच खेल सके। ऐसी जानकारी मिली कि नटराजन व्‍यस्‍त क्रिकेट कार्यक्रम के दौरान चोट से पूरी तरह उबर नहीं सके थे।

बाहर होने पर नटराजन ने कहा था...

आईपीएल 2021 से बाहर होने पर टी नटराजन बिलकुल भी खुश नहीं थे। वो थोड़ा भावुक हो गए थे। सनराइजर्स हैदराबाद ने अपने आधिकारिक सोशल मीडिया अकाउंट्स पर नटराजन का वीडियो शेयर किया था, जिसमें तेज गेंदबाज ने कहा था, ' इस आईपीएल के बचे हुए मैचों में नहीं खेल पाने के लिये दुखी हूं। मैं पिछले सत्र में अच्छा खेला था और इसके बाद भारत के लिये खेला तो मेरी उम्मीदें काफी ज्यादा थीं। दुभाग्यपूर्ण है कि मुझे घुटने की सर्जरी करानी होगी और मैं इस सत्र में नहीं खेल पाऊंगा। मेरे पास इस समय कहने के लिये कुछ नहीं है। मैं सनराइजर्स को इस सत्र का प्रत्येक मैच जीतने की कामना करता हूं। शुभकामनाएं।'

बीसीसीआई के एक सूत्र ने बताया था कि टी नटराजन का बेंगलुरु की एनसीए एकेडमी में सही ढंग से रिहैब नहीं हुआ था। सूत्र ने कहा था, 'नटराजन अपनी चोट से पूरी तरह नहीं उबरे थे। वह उपचार के लिए एनसीए (राष्ट्रीय क्रिकेट एकेडमी) गए थे, लेकिन अब दिख रहा है कि भले ही उन्हें इंग्लैंड के खिलाफ मैचों के लिए फिट घोषित कर दिया गया था, लेकिन वह खेलने के लिए शत-प्रतिशत तैयार नहीं थे। उन्हें अब लंबे समय तक बाहर रहना पड़ सकता है क्योंकि उन्होंने उचित उपचार के बिना वापसी में जल्दबाजी दिखाई।'

Quick Links

Edited by Vivek Goel
Be the first one to comment