Create

कोलकाता नाइट राइडर्स के विकेटकीपर शेल्डन जैक्सन को लेकर दिग्गज ने दिया बड़ा बयान 

शेल्डन जैक्सन को एक बार फिर केकेआर ने अपने साथ जोड़ा है
शेल्डन जैक्सन को एक बार फिर केकेआर ने अपने साथ जोड़ा है

कोलकाता नाइटराइडर्स (KKR) ने मेगा ऑक्शन से पहले अपने दिग्गज विकेटकीपर दिनेश कार्तिक को रिलीज कर दिया था। टीम ने मेगा ऑक्शन में भारतीय विकेटकीपर शेल्डन जैक्सन (Sheldon Jackson) और इंग्लैंड के विकेटकीपर सैम बिलिंग्स को खरीदा है। ऐसे में कई दिग्गज इस विभाग में केकेआर को कमजोर बता रहे हैं। हालांकि टीम के मेंटर डेविड हसी (David Hussey) का मानना है कि 26 मार्च से शुरू होने वाले आईपीएल 2022 (IPL 2022) की तैयारी के लिए टीम ने सभी विभागों को अच्छे से कवर किया है।

हसी ने कहा कि वे विकल्पों से काफी खुश हैं। इसके अलावा, पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर ने शेल्डन जैक्सन की तारीफ करते हुए कहा कि वह टूर्नामेंट में बेहतरीन प्रदर्शन कर सकते हैं। वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में डेविड हसी ने कहा,

मुझे लगता है कि हमने नीलामी में बहुत अच्छे खिलाड़ी खरीदे हैं। हमारे पास शेल्डन जैक्सन हैं, जो एक कमाल के विकेटकीपर हैं और अपने खेल में वो कड़ी मेहनत करते हैं। वह बहुत अच्छे स्ट्राइकर भी हैं और पिछले कुछ सालों से घेरलू क्रिकेट में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए आ रहे हैं। मुझे लगता है कि वह टूर्नामेंट में अपनी छाप छोड़ने के लिए तैयार हैं।

उन्होंने आगे कहा,

इसके अलावा, हमारे पास सैम बिलिंग्स हैं। वह एक क्वॉलिटी कीपर भी हैं, उन्होंने इंग्लैंड के लिए टेस्ट क्रिकेट खेला है और क्रिकेट के शॉर्ट-फॉर्म में इंग्लैंड के लिए विकेटकीपिंग की है। मुझे लगता है कि हम विकेटकीपिंग विभाग में बहुत अच्छे हैं और हमारी टीम काफी संतुलित है।

घरेलू क्रिकेट में रन बनाने वाले शेल्डन जैक्सन इस मौके का लुत्फ उठाएंगे। दूसरी ओर, बिलिंग्स को दुनिया भर की टी20 लीग्स में अपनी छाप छोड़ने में कामयाब रहे हैं।

खिलाड़ियों की फिटनेस बरकार रखने पर ध्यान होगा - डेविड हसी

कोलकाता नाइट राइडर्स के पिछले सीजन में कुछ खिलाड़ी चोटिल हो गए थे जिस कारण उन्हें संघर्ष करना पड़ा था। आंद्रे रसेल, वरुण चक्रवर्ती और सुनील नारेन जैसे खिलाड़ियों की फिटनेस काफी खराब रहती है और एक चोट टीम के संतुलन पर असर डाल सकती है।

इस बात पर डेविड हसी ने कहा कि फिजियो यह पक्का करेंगे कि क्रिकेटर्स पूरे सत्र में फिट रहें। पूर्व क्रिकेटर ने कहा,

पूरे टूर्नामेंट में चोट लगना मुश्किलें पैदा कर सकता है और किसी भी टीम पर इसका बहुत बड़ा असर पड़ सकता है। इसलिए, यह सपोर्ट स्टाफ पर निर्भर करता है पहचान करें कि कोई चोट के हिसाब से, फिटनेस के हिसाब से या थकान के हिसाब से संघर्ष कर रहा है या किसी अन्य तरह की परेशानी में है। अगर उन्हें आराम की जरूरत है, तो हम अपने फिटनेस ट्रेनर के साथ उस पर काम करने जा रहे हैं और पूरे टूर्नामेंट में उन्हें तरोताजा रखने की कोशिश करेंगे।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment