Create

इरफान पठान के बच्‍चों में दिखी देशभक्ति की भावना, फोटो को खूब किया जा रहा पसंद

इरफान पठान
इरफान पठान

भारतीय टीम के पूर्व ऑलराउंडर इरफान पठान ने अपने बच्‍चों का प्‍यारा सा फोटो आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर शेयर किया है। इस फोटो में नजर आ रहा है कि बच्‍चे टीवी के सामने खड़े होकर भारतीय टीम के साथ राष्‍ट्रगान गा रहे हैं। इरफान पठान के घर के बच्‍चों में राष्‍ट्रभक्ति की भावना साफ झलकी।

इरफान पठान ने यह फोटो भारत और श्रीलंका के बीच रविवार को खेले गए पहले टी20 इंटरनेशनल मैच के शुरू होने से पहले ली। इरफान पठान ने फोटो शेयर करते हुए कैप्‍शन लिखा, 'राष्‍ट्रगान हैशटैग सीख रहे हैं।'

यह देखकर बहुत खुशी हुई कि अगली पीढ़ी भारतीय संस्‍कृति की परंपरा और मूल्‍य को बरकरार रख रही है। क्रिकेट फैंस ने इरफान पठान और उनके परिवार की तारीफ की है कि बच्‍चों को कम उम्र से ही अच्‍छी चीजें सिखा रहे हैं। हालांकि, कुछ लोगों ने इस बात पर जोर दिया कि जब राष्‍ट्रगान चल रहा था तो इरफान पठान ने फोटो क्‍यों लिया।

स्विंग गेंदबाज की गति 130-135 किमी प्रति घंटे की रहती है: इरफान पठान

प्‍लेफील्‍ड मैगजीन के लिए हाल ही में लिखे कॉलम में इरफान पठान ने स्विंग गेंदबाजी के पीछे का विज्ञान समझाया। उन्‍होंने बताया कि गेंदबाज में स्विंग कराने की क्षमता तब खत्‍म हो सकती है जब वो गति को सुधारने का लक्ष्‍य बनाता है।

इरफान पठान ने कहा, 'तेज गेंदबाज श्रेणी में शामिल होने की निराशा आपको किसी के साथ नहीं छोड़ेगी। आप भुवनेश्‍वर कुमार से शोएब अख्‍तर नहीं बन सकते हैं। यह नामुमकिन है। आप अपनी स्विंग गंवा देंगे और बल्‍लेबाज को परेशान करने के लिए उतने तेज भी नहीं रहेंगे।'

उन्‍होंने आगे कहा, 'एक स्विंग गेंदबाज आमतौर पर 130-135 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी कराता है। ज्‍यादा से ज्‍यादा स्विंग हासिल करने के लिए सर्वश्रेष्‍ठ दम झोकने को लेकर यह वैज्ञानिक रूप से साबित हो चुका है। मगर वही गेंदबाज उस गति में यॉर्कर या फिर धीमी गति और या फिर कटर डालता है तो वो दुनिया में कही भी बचा रह सकता है।'

इरफान पठान ने समझाया कि भुवनेश्‍वर कुमार बहुत तेज गति से गेंदबाजी करने वाले गेंदबाज नहीं है। मगर अंतिम ओवरों में बल्‍लेबाज को परेशान करने के लिए वह अपने गेंदों में काफी अच्‍छा मिश्रण करते हैं।

पठान ने कहा, 'उदाहरण के लिए भुवनेश्‍वर कुमार को लीजिए। वह बहुत तेज गति से गेंदबाजी नहीं करता, लेकिन जब वो गेंद को स्विंग कराता है, तो शानदार लय में होता है। मगर कप्‍तान हमेशा अंतिम ओवरों में उससे गेंदबाजी कराता है क्‍योंकि उसके पास नकल, धीमी गति की गेंद और यॉर्कर डालने की क्षमता भी है।'

Quick Links

Edited by Vivek Goel
Be the first one to comment