'सचिन को मैंने गालियाँ दी और वो मेरे पास आकर बोले....', पाकिस्तान के दिग्गज ने सुनाया जबरदस्त किस्सा

Rahul
Pakistan v India - 2011 ICC World Cup Semi-Final
सचिन तेंदुलकर द्वारा कहे गए इन शब्दों पर सक़लैन मुश्ताक ने सोच विचार किया

भारत और पाकिस्तान (IND vs PAK) के बीच हमेशा से क्रिकेट के मैदान पर एक अलग तरह का मुकाबला देखने को मिलता है। पिछले कई सालों से दोनों देशों के मुकाबले के केवल एशिया कप और आईसीसी के टूर्नामेंट में देखने को मिलते है लेकिन 90 के दशक में दोनों टीमों के बीच लगातार द्विपक्षीय सीरीज देखने को मिलती थी। पाकिस्तान क्रिकेट टीम (Pakistan Cricket Team) के पूर्व दिग्गज स्पिनर सकलैन मुश्ताक (Saqlain Mushtaq) ने एक मजेदार किस्सा सुनाया है और बताया है कि सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) के लिए उनका सम्मान कैसे बढ़ा।

यूट्यूब पर आये एक पॉडकास्ट के दौरान सकलैन मुश्ताक ने सचिन तेंदुलकर को लेकर एक मजेदार कहानी सुनाई और कहा कि, 'सचिन के साथ मेरी एक भिड़ंत हुई थी। हम कनाडा में थे और मैं इंग्लैंड से काउंटी क्रिकेट खेलने के बाद वहां आया था। मैं तब युवा था और गेंदबाजी की अपनी दुनिया में था। इसलिए काउंटी खेलने के बाद मैं थोड़ा अहंकारी हो गया था। सचिन बहुत ही बुद्धिमान क्रिकेटर थे। मैंने उन्हें पहला ओवर कसी हुई गेंदबाजी की और स्लेज किया। मैंने कुछ कठोर शब्दों (गाली) का प्रयोग किया। वह मेरे पास आए और बहुत प्यार से बोले कि, 'साकी, मैंने कभी नहीं सोचा था कि तुम ऐसा करोगे। और तुम इस तरह के शब्द बोलने वाले व्यक्ति भी नहीं लगते। मुझे लगा कि तुम बहुत अच्छे इंसान हो।'

सचिन तेंदुलकर द्वारा कहे गए इन शब्दों पर सक़लैन मुश्ताक ने सोच विचार किया और आगे का किस्सा बताया। इस सन्दर्भ में उन्होंने कहा कि सचिन ने मुझसे ये सभी बाते बहुत अच्छी तरह से कही थी और मेरा विश्वास करना अगले 4 ओवरों के लिए उनके शब्दों ने मुझे प्रभावित किया। उन्होंने मुझसे जो कहा उससे मैं इतना परेशान हो गया कि इससे पहले कि मैं कुछ समझ पाता, उन्होंने अपना काम कर दिया था। वह बल्लेबाजी करते-करते सेट हो गए और यह मेरे चेहरे पर एक थप्पड़ जैसे लगा। क्योंकि उन्होंने मेरे साथ मानसिक खेल खेला था।'

Quick Links

Edited by Rahul
Be the first one to comment