श्रीलंका के घरेलू सीजन की फिर से होगी शुरुआत, अहम कारण से बंद हुए थे टूर्नामेंट 

Sri Lanka Asia Cup Cricket
Sri Lanka Asia Cup Cricket

श्रीलंका क्रिकेट ने अपना घरेलू क्रिकेट सीज़न फिर से शुरू कर दिया है, जिसे लगभग तीन सप्ताह पहले रोक दिया गया था। श्रीलंका के घरेलू टूर्नामेंट्स की सरंचना में बदलाव को लेकर एक विवाद हुआ था, जिसकी वजह से घरेलू क्रिकेट सीजन पर रोक लगा दी गई थी, लेकिन अब देश के खेल मंत्रालय के साथ हुई एक सहमति के बाद इसे फिर से शुरू कर दिया गया है।

शुक्रवार, 22 सितंबर से मेजर क्लब तीन दिवसीय टूर्नामेंट और टियर बी क्लब तीन दिवसीय टूर्नामेंट की शुरुआत होने वाली है। इस ख़बर की जानकारी श्रीलंका क्रिकेट के प्रेस रिलीज के जरिए सामने आई है, जिसमें कहा गया है कि, श्रीलंका क्रिकेट और खेल मंत्रालय के बीच एक बैठक हुई, जिसमें घरेलू क्रिकेट टूर्नामेंट्स से संबंधित विवाद पर चर्चा हुई और सभी की सहमति से घरेलू क्रिकेट को फिर से शुरू करने का निर्णय लिया गया।

फिर से शुरू होगा श्रीलंका का घरेलू क्रिकेट

हालांकि, श्रीलंका क्रिकेट द्वारा जारी किए गए प्रेस रिलीज में इस बात के बारे में विस्तृत जानकारी नहीं दी गई है कि घरेलू टूर्नामेंट्स के विवाद को सुलझाने के लिए श्रीलंकाई क्रिकेट बोर्ड और खेल मंत्रालय के बीच हुई बैठक में क्या-क्या चर्चाएं हुई। ईएसपीएन क्रिकइन्फो की एक रिपोर्ट के मुताबिक खेल मंत्रालय न्यायालय के उस फैसले का पालन करने पर सहमत हुआ है, जिसमें गेस्टो क्रिकेट क्लब और श्रीलंका किकेट के बीच चल रहे विवाद में फैसला आने तक घरेलू टूर्नामेंट को बिना किसी रुकावट के जारी रखने के लिए कहा गया था।

दरअसल, श्रीलंका क्रिकेट ने घरेलू टूर्नामेंट की सरंचना को बदलने के लिए एक आपातकालीन बैठक बुलाई थी, जिसमें एक निर्णय लिया गया था। गेस्टो क्रिकेट क्लब ने एसएलसी के उसी निर्णय के खिलाफ बहस की थी और वहीं से इस विवाद का जन्म हुआ था। इस विवाद की वजह से घरेलू टूर्नामेंट्स पर रोक लगा दी गई थी, लेकिन अदालत ने इस मामले पर सुनवाई करते हुए कहा था कि, टूर्नामेंट्स को बिना किसी रोकटोक के जारी रखना चाहिए। गेस्टो क्रिकेट क्लब ने अदालत के इसी फैसले से नाखुश होकर खेल मंत्रालय से गुहार लगाई थी, लेकिन अब खेल मंत्रालय ने भी अदालत के फैसले का सम्मान करते हुए श्रीलंका क्रिकेट के साथ एक बैठक करके घरेलू टूर्नामेंट्स को फिर से शुरू करने का फैसला कर लिया है।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar