बिना कॉन्ट्रैक्ट वाले खिलाड़ियों को दूसरी लीग में खेलने की अनुमति मिलनी चाहिए - सुरेश रैना

सुरेश रैना
सुरेश रैना

आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के दिग्गज खिलाड़ी सुरेश रैना ने बड़ी बात कही है। उन्होंने कहा है कि जिन खिलाड़ियों के पास सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट नहीं है, उन्हें दुनिया की अन्य टी20 लीग में खेलने की अनुमति मिलनी चाहिए। सुरेश रैना ने कहा कि इससे उस खिलाड़ी को फिट रहने में काफी मदद मिलेगी। इसके लिए सुरेश रैना ने दो खिलाड़ियों का उदाहरण भी दिया।

सुरेश रैना ने इरफान पठान के साथ लाइव इंस्टाग्राम चैट में कहा कि यूसुफ पठान और रॉबिन उथप्पा जैसे खिलाड़ियों के पास अभी भारतीय टीम का कोई कॉन्ट्रैक्ट नहीं है। इसलिए इन जैसे खिलाड़ियों को कम से कम दो विदेशी लीगों में खेलने की अनुमति मिलनी चाहिए। रैना ने कहा कि इस तरह की लीग में खेलने से खिलाड़ियों की स्किल में भी सुधार होगा और वे फिट भी रहेंगे। आपको बता दें कि इससे पहले 2017 में खबर आई थी कि यूसुफ पठान को हांगकांग ब्लिट्ज में खेलने की अनुमति मिल गई है लेकिन बाद में उन्हें एनओसी नहीं मिली।

ये भी पढ़ें: इरफान पठान ने चयनकर्ताओं पर साधा निशाना, कहा संन्यास से वापस आने के लिए तैयार

सुरेश रैना ने यूसुफ पठन और रॉबिन उथप्पा का दिया उदाहरण

सुरेश रैना ने कहा कि मैं चाहता हूं कि बीसीसीआई, आईसीसी या फ्रेंचाइजी के साथ मिलकर कुछ प्लानिंग करे, ताकि बिना कॉन्ट्रैक्ट वाले खिलाड़ी विदेशी टी20 लीग में हिस्सा ले सकें। मुझे लगता है कि यूसुफ पठान और रॉबिन उथप्पा जैसे खिलाड़ी काफी शानदार प्लेयर हैं और वे विदेशी लीगों में जाकर काफी कुछ सीख सकते हैं। हमें कम से कम दो लीग में तो खेलने की अनुमति दीजिए, जहां हम जाकर खेलें।

ये भी पढ़ें: ब्रैड हॉग ने ऑल टाइम आईपीएल इलेवन का किया चयन, विराट कोहली को बनाया कप्तान

रैना ने कहा कि आईपीएल के अलावा हमारे पास कोई दूसरा विकल्प नहीं है

सुरेश रैना ने आगे कहा कि अगर हम 3 महीने में प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेलते हैं, चाहे वो बिग बैश लीग हो या कैरेबियन प्रीमियर लीग हो, उससे हमें लगेगा कि हम मैच के लिए तैयार हैं। अगर आप विदेशी खिलाड़ियों को देखें तो वे लोग सभी टी20 लीग में खेलते हैं और अपनी टीम में उसके जरिए वापसी भी करते हैं। रैना ने कहा कि हम लोग सिर्फ आईपीएल खेलते हैं और इसमें हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों की संख्या काफी ज्यादा रहती है। अगर आईपीएल में किसी भी टीम ने हमें नहीं खरीदा तो हमारे पास कोई दूसरा विकल्प नहीं है। वहीं दूसरी तरफ अगर हम विदेशी लीग में जाकर वहां पर अच्छा प्रदर्शन करते हैं तो फिर हमारी क्रिकेट में भी उसकी वजह से सुधार होगा। हमें वहां जाकर काफी कुछ सीखने का मौका मिलेगा।

ये भी पढ़ें: 'मैं तुम्हारा कप्तान हूं, मुझे बेवकूफ मत बनाओ', जब एम एस धोनी ने मोहम्मद शमी से कही थी ये बात

आपको बता दें कि भारत के खिलाड़ियों को आईपीएल के अलावा दुनिया के किसी भी टी20 लीग में खेलने की अनुमति नहीं है। बीसीसीआई इसके लिए एनओसी नहीं देती है। हालांकि अगर खिलाड़ी संन्यास ले चुका है तो उसे फिर एनओसी मिल सकती है। युवराज सिंह और जहीर खान जैसे खिलाड़ी इसका उदाहरण हैं, जिन्होंने ग्लोबल टी20 कनाडा में संन्यास लेने के बाद हिस्सा लिया था।

Quick Links

Edited by सावन गुप्ता
App download animated image Get the free App now