Create

"अगर खिलाड़ी अपने देश की बजाय IPL में खेलने को महत्व दें तो उन्हें नेशनल टीम से बाहर कर देना चाहिए"

आईपीएल
आईपीएल

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज स्पिनर शेन वॉर्न (Shane Warne) ने एक बड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा है कि क्रिकेट बोर्ड्स को ऐसे खिलाड़ियों को इंटरनेशनल मुकाबलों के लिए चुनना ही नहीं चाहिए जो नेशनल ड्यूटी की बजाय आईपीएल (IPL) में खेलना ज्यादा पसंद करते हैं।

शेन वॉर्न ने कहा कि वो प्लेयर्स के आईपीएल में खेलकर पैसे कमाने के खिलाफ नहीं हैं लेकिन अगर उन्हें फ्री हैंड दे दिया गया तो फिर वो जल्द ही वे अपने देश से ज्यादा पैसे को महत्व देने लगेंगे।

रोड टू एशेज पोडकास्ट में शेन वॉर्न ने कहा,

मुझे प्लेयर्स से कोई जलन नहीं है कि वो इतने पैसे क्यों कमा रहे हैं। ये काफी अच्छी बात है। अगर वे पैसे कमाना चाहते हैं तो फिर उन्हें कमाने दीजिए। लेकिन अगर आप अपने देश के लिए खेलना चाहते हैं और फिर आईपीएल में जाना पसंद करते हैं तो फिर ऐसे खिलाड़ियों को सेलेक्ट करने का कोई फायदा नहीं है। क्योंकि इसके बाद वो रेस्ट लेंगे और टेस्ट मैच नहीं खेल पाएंगे और पैसे के लिए अपने देश की तरफ से खेलना कम कर देंगे।

ये भी पढ़ें: टिम पेन ने न्यूजीलैंड फैंस से मांगी माफी, चौंकाने वाली वजह आई सामने

नेशनल टीम के लिए कम खेलने से आपके इंटरनेशनल रन भी कम हो जाएंगे - शेन वॉर्न

शेन वॉर्न ने आगे कहा कि केवल टेस्ट क्रिकेट में ही खेलकर खिलाड़ी का असली टेस्ट होता है। उन्होंने कहा कि इंटरनेशनल मुकाबले मिस करने से आपके रन भी कम होंगे।

अगर कोई कहता है कि तीन मिलियन बक्स लेकर छह हफ्ते तक फैमिली से दूर रहो तो फिर वो काफी आसान फैसला है। लेकिन अगर आप अपने आपको एक क्रिकेटर के तौर पर आंकना चाहते हैं तो फिर इंटरनेशनल क्रिकेट में ही ऐसा कर सकते हैं, खासकर टेस्ट क्रिकेट में। अगर आप पैसा चाहते हैं तो इसमें कोई दिक्कत नहीं है लेकिन उसके बाद आपको टेस्ट मैचों के लिए इंतजार करना पड़ेगा। इसकी वजह से आपके रन भी कम हो सकते हैं क्योंकि कोई ना कोई आपको रिप्लेस कर लेगा।

ये भी पढ़ें: टॉम बैंटन ने ताबड़तोड़ छक्के लगाकर जिताया मैच, कॉलिन डी ग्रैंडहोम की तूफानी पारी गई बेकार

Quick Links

Edited by सावन गुप्ता
Be the first one to comment