Create
Notifications
Advertisement

Hindi Cricket News - पार्थिव पटेल ने 2004 के ऑस्ट्रेलिया दौरे को लेकर किया खुलासा

  • पार्थिव पटेल बेहद कम उम्र में भारत के लिए खेलने लगे थे
  • टेस्ट क्रिकेट में धोनी के आने से उनके करियर पर प्रतिकूल असर पड़ा
Naveen Sharma
FEATURED WRITER
न्यूज़
Modified 06 May 2020, 19:05 IST

 पार्थिव पटेल
पार्थिव पटेल

पार्थिव पटेल उस खिलाड़ी का नाम है जिसने भारत की तरफ से सत्रह साल की उम्र में टेस्ट डेब्यू कर लिया था। पटेल ने अपने करियर में घटी एक घटना का जिक्र किया है। उन्होंने कहा कि एक अबर मैथ्यू हेडन को छेड़ने के बाद उन्होंने मुझे घूंसा मारने की धमकी दी थी। पटेल ने कहा कि यह घटना ऑस्ट्रेलिया दौरे पर ब्रिस्बेन में हुई।

आज तक की रिपोर्ट के मुताबिक पटेल ने बताया कि साल 2004 में मैथ्यू हेडन आउट होकर आए थे और मैं ड्रिंक लेकर मैदान में जा रहा था। हेडन शतक बनाकर इरफ़ान पठान की गेंद पर आउट हुए थे। मैंने उनके पास से गुजरते हुए छेड़ा था। इसके बाद हेडन ड्रेसिंग रूप में जाने वाले रस्ते पर मेरा इंतजार कर रहे थे। वापस आते ही उन्होंने मुझे बुलाकर कहा कि फिर से ऐसा किया तो मैं तुम्हे मुंह पर घूंसा मारूंगा। उसके बाद मैं उनके पास खड़ा रहा और सॉरी बोला। पटेल ने कहा कि उस दौरे पर बाद में हम दोनों दोस्त बन गए।

यह भी पढ़ें: 4 बल्लेबाज जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में दो तिहरे शतक जड़े हैं

इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने बेहद कम उम्र में टेस्ट डेब्यू किया था लेकिन ज्यादा समय तक टीम में स्थायी जगह नहीं बना पाए। उनके बाद दिनेश कार्तिक भी आए लेकिन महेंद्र सिंह धोनी के आने से सभी टीम से बाहर हो गए। पटेल को भी ज्यादा मौके नहीं मिले। पार्थिव पटेल ने भारतीय टीम के लिए कुछ मैचों बतौर ओपनर बल्लेबाजी की थी, उनमें अर्धशतकीय पारियां भी खेली।

रणजी ट्रॉफी में पार्थिव पटेल ने अच्छा नाम कमाया है। अभी तक संन्यास नहीं लेने वाले इस खिलाड़ी की उम्र भी हो गई है। पदार्पण के समय पटेल शरारती थे। 2003 विश्वकप की टीम में भी उन्हें शामिल किया गया था लेकिन वहां द्रविड़ कीपर की भूमिका में थे इसलिए उन्हें मौका नहीं मिला।


Published 06 May 2020, 19:05 IST
Advertisement
Fetching more content...
Get the free App now
❤️ Favorites Edit