Create

जस्टिन लैंगर के इस्तीफे को लेकर पैट कमिंस ने तोड़ी चुप्पी, अपने ऊपर लगे आरोपों का दिया जवाब

Australia v England - 3rd Test: Day 1
Australia v England - 3rd Test: Day 1

जस्टिन लैंगर (Justin Langer) के हेड कोच पद से इस्तीफे को लेकर ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के कप्तान पैट कमिंस (Pat Cummins) ने अब अपनी चुप्पी तोड़ी है और बड़ा बयान दिया है। उन्होंने उन सभी सवालों के जवाब दिए हैं जो लगातार उनके ऊपर उठ रहे थे।

दरअसल जस्टिन लैंगर के कोच पद से इस्तीफा देने के बाद ऑस्ट्रेलिया के कई पूर्व क्रिकेटरों ने पैट कमिंस पर सवाल उठाया था। एडम गिलक्रिस्ट, माइकल क्लार्क और मिचेल जॉनसन जैसे दिग्गजों ने कमिंस की आलोचना की थी और कहा था कि उन्होंने अपने कोच का साथ नहीं दिया।

जस्टिन लैंगर को लेकर पैट कमिंस का बयान

अब कमिंस ने इन सभी आलोचनाओं का जवाब दिया है। उन्होंने एक बयान जारी कर कहा,

कई सारे पूर्व खिलाड़ियों ने मुझे चुपचाप आकर सलाह दी जिसका मैं स्वागत करता हूं। वहीं कुछ प्लेयर्स ने मीडिया में जाकर बयान दिए और उसका भी मैं स्वागत करता हूं। सभी पूर्व खिलाड़ियों से मैं यही कहना चाहता हूं कि जिस तरह से आपने हमेशा अपनी टीम के प्लेयर्स का साथ दिया था, मैं भी उसी तरह अपने साथी खिलाड़ियों के साथ खड़ा हूं। जस्टिन लैंगर ने जबसे इस्तीफा दिया है, तब से काफी सारे बयान सामने आ रहे हैं। मैंने इससे पहले सार्वजनिक तौर पर इस बारे में बयान नहीं दिया था और इसके पीछे कुछ वजह थी। अब लैंगर ने इस्तीफा दे दिया है और खुद बयान दिया है और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की तरफ से भी बयान आ गया है तो मैं कुछ बातें स्पष्ट कर देना चाहता हूं।
जस्टिन लैंगर को लगता था कि उनकी कोचिंग स्टाइल बहुत सख्त है। इसके लिए उन्होंने प्लेयर्स और स्टाफ से माफी भी मांगी थी लेकिन मेरे हिसाब से उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए था क्योंकि प्लेयर्स को उनके सख्त रवैये पर कोई आपत्ति नहीं थी। ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों की बेहतरी के लिए हमें नई तरह के कोचिंग स्टाइल की जरूरत है। खिलाड़ियों ने यही फीडबैक क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को दिया और मेरे हिसाब से सपोर्ट स्टाफ ने भी यही कहा। इसके बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने एक बड़ा फैसला लेते हुए टीम की बात सुनी। मैं इस जिम्मेदारी को पूरी तरह से अपने ऊपर लेता हूं।
Pat Cummins' statement on Justin Langer's resignation ⬇️ https://t.co/a5scaqjQ7X

Quick Links

Edited by सावन गुप्ता
Be the first one to comment