Create

"वह चाहते थे कि मैं अफगानिस्तान के लिए नंबर 4 पर बल्लेबाजी करूं" - राशिद खान ने दिग्गज के साथ अपनी बातचीत को किया याद

राशिद खान ने इंजमाम उल हक़ के साथ अपनी बातचीत को किया याद
राशिद खान ने इंजमाम उल हक़ के साथ अपनी बातचीत को किया याद

अफगानिस्तान के लेग स्पिनर राशिद खान (Rashid Khan) ने हाल ही में खुलासा किया कि पाकिस्तान के दिग्गज बल्लेबाज इंजमाम उल हक़ ने उन्हें नंबर 4 पर बल्लेबाजी करने के लिए कहा था। इंजमान ने यह सुझाव तब दिया है जब वह अफगानिस्तान क्रिकेट टीम के हेड कोच के पद पर कार्यरत थे।

बुधवार को सवेरा पाशा के यूट्यूब चैनल पर बोलते हुए राशिद खान ने कहा कि 2016 टी20 वर्ल्ड कप के दौरान इंजमाम उल हक़ ने मुझे अपनी बल्लेबाजी पर कार्य करने के लिए प्रोत्साहित किया था। लेग स्पिनर ने उस वाकये को भी याद किया कि जब उन्हें टूर्नामेंट के दौरान इंग्लैंड के खिलाफ नंबर 5 पर बल्लेबाजी के लिए प्रमोट किया गया था।

राशिद ने कहा,

जब मैं पहली बार टीम में आया तो इंजमाम उल हक हमारे मुख्य कोच थे। 2016 में टी20 वर्ल्ड कप के दौरान उन्होंने मुझसे कहा था कि वह चाहते हैं कि मैं अगले दो या तीन वर्षों में अफगानिस्तान के लिए नंबर 4 पर बल्लेबाजी करूं। उन्होंने मुझसे कहा कि मेरे पास प्रतिभा और कौशल है और इसे विकसित करने की बात है। इसने मुझे बहुत आत्मविश्वास दिया। इसके बाद उन्होंने मुझे सीधे इंग्लैंड के खिलाफ 5वें नंबर पर प्रमोट कर दिया।
youtube-cover

इंग्लैंड के खिलाफ ऊपर बल्लेबाजी करने के मौके को राशिद खान भुना नहीं पाए थे और उन्होंने 20 गेंदों में 15 रन बनाये थे। उनकी टीम को मुकाबले में 15 रन से हार भी मिली थी।

पहले मुझे नेट्स में बल्लेबाजी का ज्यादा मौका नहीं मिलता था - राशिद खान

राशिद ने आगे कहा कि कई लोगों ने उनसे कहा था कि वह बल्ले से भी योगदान देने की क्षमता रखते हैं। उन्होंने कहा कि वह पहले अपनी बल्लेबाजी पर काम नहीं कर पा रहे थे क्योंकि उन्हें नेट्स में पर्याप्त मौके नहीं मिले। उन्होंने उल्लेख किया कि दुनिया भर की टी20 लीग में खेलने के उनके अनुभव ने उन्हें अपनी बल्लेबाजी में सुधार करने में मदद की है। प्रतिभाशाली युवा खिलाड़ी ने कहा कि वह अब एक ऑलराउंडर के रूप में खेलने के लिए तैयार हैं।

लेग स्पिनर ने कहा,

मुझे लगने लगा है कि मैं अंतिम ओवरों के दौरान टीम के लिए 25-30 रनों का पीछा कर सकता हूं। मुझे हमेशा कहा गया है कि मेरे पास क्षमता है, लेकिन यह सिर्फ इतना है कि मुझे कुछ आत्मविश्वास की जरूरत है। मुझे पहले नेट्स पर बल्लेबाजी करने के ज्यादा मौके नहीं मिलते थे, इसलिए मैंने सिर्फ अपनी गेंदबाजी पर ध्यान देना शुरू किया। पिछले दो साल में टी20 लीग खेलते हुए मुझे अपनी बल्लेबाजी पर काम करने का मौका मिला। मैंने अब टीमों को स्पष्ट कर दिया है कि वे मुझे एक ऑलराउंडर के रूप में गिन सकते हैं।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment