Create
Notifications

पाकिस्तान से मेरे एक फैन का खत राशिद लतीफ लाया करते थे- विनोद कांबली

विनोद कांबली
विनोद कांबली
SENIOR ANALYST
Modified 19 Jul 2020
न्यूज़

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी विनोद कांबली ने भारत-पाकिस्तान के बीच रिश्तों को लेकर बड़ी प्रतिक्रिया दी है। विनोद कांबली ने बताया कि किस तरह से भारत और पाकिस्तान के खिलाड़ियों के बीच काफी गहरी दोस्ती हुआ करती थी। इसका उन्होंने एक बड़ा उदाहरण दिया है। विनोद कांबली ने बताया कि पाकिस्तान टीम के पूर्व कप्तान राशिद लतीफ उनके एक फैन का खत पाकिस्तान से लाया करते थे।

ग्रेटेस्ट राइवलरी पोडकास्ट पर विनोद कांबली ने कहा कि जब हम लोग पाकिस्तान दौरे पर गए थे तो वहां पर हमारा काफी जबरदस्त स्वागत किया गया। यहां तक कि पाकिस्तान में मेरा एक फैन भी था जो 1991 में मेरे डेब्यू के साथ ही मेरा करियर फॉलो कर रहा था और वो कराची से था। उस वक्त मोबाइल या टेलिफोन नहीं था तो वो मुझे खत भेजता था। आप विश्वास नहीं करेंगे कि उसका वो खत लेकर पाकिस्तान से भारत कौन आता था, वो थे पाकिस्तान के पूर्व कप्तान राशिद लतीफ। वो राशिद लतीफ के पास जाता था और उनको सारे खत दे देता था और जब पाकिस्तान की टीम भारत का दौरा करती थी तो राशिद लतीफ वो खत लेकर मेरे पास आते थे। पाकिस्तान में अब भी भारतीय खिलाड़ियों की फैन फॉलोइंग है।

ये भी पढ़ें: 1998 में वनडे टीम से ड्रॉप किए जाने के बाद मेरे अंदर असुरक्षा की भावना पैदा हो गई थी-राहुल द्रविड़

पाकिस्तानी खिलाड़ियों के साथ हमारी काफी अच्छी दोस्ती थी- विनोद कांबली

विनोद कांबली ने आगे कहा कि पाकिस्तान के खिलाफ जब हम लोग खेलते थे तो मैदान पर काफी राइवलरी होती थी लेकिन मैदान के बाहर सब लोग अच्छे दोस्त थे। वकार यूनिस, वसीम अकरम सबके साथ अच्छी दोस्ती थी। जब हम लोग खेलते थे तो दिल से खेलते थे और अपना बेस्ट देने की कोशिश करते थे।

ये भी पढ़ें: मैं 'खेल रत्न' का हकदार नहीं हूं-हरभजन सिंह

विनोद कांबली ने कहा कि मैदान के बाहर अगर आप वकार यूनिस से पूछें तो मैं उनके साथ काफी घूमता था। मैंने अपने डेब्यू से ही ये दोस्ती बरकरार रखी। मुझे अभी भी याद है, जब हमने पाकिस्तान में उनका इंडिपेंडेंस कप खेला था। वो मेरा पाकिस्तान का पहला दौरा था।

Published 19 Jul 2020
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now