Create
Notifications

हार्दिक पांड्या के संन्‍यास के बारे में रवि शास्‍त्री ने की बड़ी भविष्‍यवाणी

रवि शास्‍त्री ने कहा कि हार्दिक पांड्या 2023 विश्‍व कप के बाद वनडे प्रारूप से संन्‍यास ले सकते हैं
रवि शास्‍त्री ने कहा कि हार्दिक पांड्या 2023 विश्‍व कप के बाद वनडे प्रारूप से संन्‍यास ले सकते हैं
Vivek Goel

भारतीय टीम (India Cricket team) के पूर्व हेड कोच रवि शास्‍त्री (Ravi Shastri) ने कहा कि हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) 2023 वर्ल्‍ड कप (2023 ICC World Cup) के बाद वनडे क्रिकेट से संन्‍यास ले सकते हैं। शास्‍त्री ने कहा कि भविष्‍य में खिलाड़ी किसी एक प्रारूप से किनारा करने को प्राथमिकता दे सकते हैं।

इंग्‍लैंड के ऑलराउंडर बेन स्‍टोक्‍स ने हाल ही में वनडे क्रिकेट से संन्‍यास लेकर क्रिकेट जगत को हैरान कर दिया था। कई खिलाड़‍ियों का मानना है कि व्‍यस्‍त अंतरराष्‍ट्रीय कैलेंडर का उनके शरीर पर असर पड़ रहा है और द्विपक्षीय वनडे सीरीज से भी उन्‍हें मदद नहीं मिल रही है।

खिलाड़‍ियों के लिए तीनों प्रारूप में खेलना मुश्किल होता जा रहा है और वो दिन दूर नजर नहीं आ रहा है जब खिलाड़ी एक प्रारूप से किनारा कर सकते हैं ताकि अन्‍य प्रारूपों पर ध्‍यान दें।

रवि शास्‍त्री का विचार है कि हार्दिक पांड्या अपना ध्‍यान टी20 क्रिकेट पर लगाएंगे। पूर्व भारतीय क्रिकेटर ने साथ ही कहा कि सिर्फ पांड्या ही नहीं, लेकिन कई खिलाड़ी प्रारूप चुनना शुरू कर सकते हैं।

रवि शास्‍त्री के हवाले से इंडिया टुडे ने कहा, 'टेस्‍ट क्रिकेट हमेशा रहेगा क्‍योंकि खेल में इसका महत्‍व है। आपके पास खिलाड़ी हैं जो चुनेंगे कि किस प्रारूप में वो खेलना चाहते हैं। हार्दिक पांड्या को लीजिए। वो टी20 क्रिकेट खेलना चाहता है। उसके दिमाग में काफी स्‍पष्‍ट है कि मैं कुछ और नहीं खेलना चाहता हूं। वो 50 ओवर क्रिकेट खेल रहा है क्‍योंकि 2023 में भारत में विश्‍व कप होना है। इसके बाद देख सकते हैं कि वो शायद इस प्रारूप से किनारा कर ले। यही चीज आपको अन्‍य खिलाड़‍ियों के साथ देखने को मिल सकती है। वो प्रारूप चुनना शुरू करेंगे। उन्‍हें इसका अधिकार है।'

रवि शास्‍त्री ने आगे कहा, 'आगे चलकर फ्रेंचाइजी क्रिकेट दुनिया पर राज करती दिख सकती है। फिर आप अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट कब कराएंगे? आपको कार्यक्रम छोटा करना होगा। आपको द्विपक्षीय सीरीज में कटौती करनी पड़ेगी और उस दिशा में आगे जाना होगा। आप कभी खिलाड़‍ियों को विभिन्‍न फ्रेंचाइजी के लिए खेलने से रोक नहीं सकेंगे।'


Edited by Prashant Kumar

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...