Create

'अंकित राजपूत ने मुझसे कहा था कि मैं खलनायक नहीं बनना चाहता, लोग ट्रोल भी करेंगे'

भारतीय ऑफ़ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) ने आईपीएल 2019 से जुड़ी एक दिलचस्प घटना का जिक्र किया है। रविचंद्रन अश्विन ने कहा कि पंजाब और मुंबई के मैच में अंकित राजपूत को मैंने नॉन स्ट्राइक छोर पर बल्लेबाज को रन आउट करने के लिए कहा था लेकिन राजपूत ने मना कर दिया था। राजपूत ने यह कहते हुए मना किया था कि मुझे खलनायक नहीं दिखना है।

मुरली कार्तिक से बातचीत में अपने यूट्यूब चैनल पर अश्विन ने कहा कि बल्लेबाजों को क्रीज में रहने के लिए कहने वाला एक बाधा की तरह लगता है। किसी गेंदबाज को नॉन स्ट्राइक छोर पर बल्लेबाज को रन आउट नहीं करने के लिए कहना गलत है। जब खेल इतना प्रतिस्पर्धी है, तो मेरे हिसाब से गेंदबाज को रोका नहीं जाना चाहिए।

रविचंद्रन अश्विन ने बताई दिलचस्प घटना

अश्विन ने कहा कि जब जोस बटलर को आउट करने वाली घटना हुई, उसका अगला मैच मुंबई इंडियंस के साथ था। अंतिम जोड़ी के रूप में राहुल चाहर और अल्जारी जोसेफ बैटिंग कर रहे थे। एक गेंद में दो रन चाहिए थे। मैं गेंदबाज अंकित राजपूत के पास गया और कहा कि ये बल्लेबाज रन लेने के लिए बाहर जाएंगे। गेंद डालने से पहले अगर नॉन स्ट्राइक छोर वाला बल्लेबाज भागने लगे, तो आउट करके वापस भेज देना। अंकित राजपूत डर गए और कहा कि नहीं, मैं ऐसा नहीं करूंगा। अंकित ने कहा कि अगर मैंने ऐसा किया तो विवाद होगा और मैं खलनायक बन जाऊँगा। मैंने कहा कि यहाँ तुम जो करोगे, वह सही है क्योंकि गलती नॉन स्ट्राइकर की है। अंकित राजपूत ने ऐसा कुछ नहीं किया।

गौरतलब है कि राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ पंजाब के लिए खेलते हुए अश्विन ने 2019 में जोस बटलर को मांकडिंग आउट कर दिया था। इसके बाद काफी विवाद भी हुआ और खेल भावना को लेकर अश्विन के ऊपर सवाल खड़े हुए लेकिन नियमों के तहत अश्विन सही थे।

Quick Links

Edited by Naveen Sharma
Be the first one to comment