Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

एम एस धोनी की रणनीति की वजह से हमें 2007 टी20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ बॉल आउट मुकाबले में जीत मिली थी - रॉबिन उथप्पा

  • एम एस धोनी की अगुवाई में भारत ने 2007 का टी20 वर्ल्ड कप जीता था
  • भारत ने पाकिस्तान को उस वर्ल्ड कप में दो बार हराया था
SENIOR ANALYST
न्यूज़
Modified 21 May 2020, 10:50 IST
एम एस धोनी  2007वर्ल्ड कप के दौरान
एम एस धोनी 2007वर्ल्ड कप के दौरान

2007 टी20 वर्ल्ड कप को लेकर दिग्गज बल्लेबाज रॉबिन उथप्पा ने बड़ा खुलासा किया है। उथप्पा ने बताया कि कैसे एम एस धोनी की बेहतरीन रणनीति की वजह से भारतीय टीम को पाकिस्तान के खिलाफ बॉल आउट वाले मुकाबले में जीत मिली थी। उथप्पा ने बताया कि धोनी की वजह से उस लगभग हारे हुए मैच में भारत को जीत मिली थी।

राजस्थान रॉयल्स को पोडकास्ट पर न्यूजीलैंड के स्पिनर इश सोढ़ी से बातचीत में रॉबिन उथप्पा ने कहा कि हम वर्ल्ड कप में पाकिस्तान से कभी नहीं हारे थे लेकिन उस मैच में हम हार के बेहद करीब आ गए थे। उस मैच का मोमेंटम तब शिफ्ट हुआ, जब आखिरी गेंद पर रन आउट हो गया। उथप्पा ने बताया कि विकेटों के पीछे से एम एस धोनी की स्ट्रैटजी ने भारतीय खिलाड़ियों को स्टंप को हिट करने में मदद की, जिससे भारतीय टीम बॉल आउट में मुकाबला जीतने में सफल रही।

ये भी पढ़ें: आईपीएल कब शुरु होगा, अंशुमान गायकवाड़ ने दिया जवाब

उथप्पा ने कहा कि बॉल आउट में पाकिस्तान के प्रदर्शन को देखकर ऐसा लगा कि उन्होंने इसकी प्रैक्टिस की ही नहीं थी। आप साफ तौर पर ये देखकर कह सकते थे कि उन्होंने इसकी तैयारी नहीं कर रखी थी। एम एस धोनी ने पाकिस्तान के विकेटकीपर कामरान अकमल से एक चीज काफी अलग की जिससे भारतीय गेंदबाजों को काफी मदद मिली। बॉल आउट के दौरान कामरान अकमल उस जगह खड़े थे, जहां पर आमतौर पर एक विकेटकीपर खड़ा होता है। वो स्टंप के साथ में खड़े थे ना कि स्टंप के पीछे थे।

ये भी पढ़ें: विराट कोहली बने डायनासोर, अनुष्का शर्मा का जबरदस्त कमेंट

एम एस धोनी विकेटों के पीछे खड़े थे, इसलिए हमें आसानी हुई

उथप्पा ने बताया कि एम एस धोनी उसके उलट ठीक विकेटों के पीछे खड़े थे। इससे हम लोगों को विकेटों पर निशाना साधने में आसानी हो गई। हमने ये मानकर गेंदबाजी की हमें धोनी पर निशाना साधना है और चुंकि वो विकेटों के ठीक पीछे थे, इसलिए गेंद सीधा विकेटों पर जाकर लगी।

ये भी पढ़ें: रोहित शर्मा और अजिंक्य रहाणे को बड़ा झटका, अभी नहीं कर पाएंगे प्रैक्टिस

आपको बता दें कि 2007 टी20 वर्ल्ड कप के दौरान भारत और पाकिस्तान के बीच ग्रुप स्टेज में मुकाबला टाई हो गया था। उस वक्त सुपर ओवर का नियम नहीं था और मैच का फैसला बॉल आउट से निकलता था। इस दौरान दोनों टीमों के गेंदबाज स्टंप को हिट करते थे और जो टीम सबसे ज्यादा स्टंप को हिट करती थी उसे विजेता घोषित किया जाता था। भारत की तरफ से उस बॉल आउट में सहवाग, हरभजन और उथप्पा ने गेंदबाजी की थी और तीनों ने स्टंप पर निशाना साधा था।

Published 21 May 2020, 10:50 IST
Advertisement
Fetching more content...
Get the free App now
❤️ Favorites Edit