Create
Notifications

रोहित शर्मा और शिखर धवन ने एक-दूसरे को लेकर बड़े खुलासे किये, चैंपियंस ट्रॉफी 2013 का भी हुआ जिक्र

Enter caption
Richa Gupta

भारतीय टीम में शिखर धवन और रोहित शर्मा को सलामी जोड़ी के रूप में परफेक्ट माना जाता है। इन दोनों ने कई बार भारत को महत्वपूर्ण मैच जिताने में अहम भूमिका निभाई है। सिर्फ मैदान में ही नहीं बल्कि आपस में भी इनकी यारी बहुत पक्की है। यह दोनों एक परिवार की तरह रहते हैं, जहां इन्हें एक-दूसरे का खयाल रहता है। दोनों को एक-दूसरे के कई सीक्रेट भी मालूम है, जिनसे सब अनजान हैं। कुछ ऐसे ही सीक्रेट्स बीते दिनों इन दोनों खिलाड़ियों ने सबके साथ शेयर किए। आइए जानते हैं...।

हम दोनों एक परिवार की तरह हो गए हैं

शिखर ने कहा कि हम दोनों बिल्कुल एक जैसे हैं। हमें एक-दूसरे की फैमिली के साथ रहने में मजा आता है। हम एक परिवार की तरह हो गए हैं। रोहित जब अपनी बेटी को घुमा रहा था तो मैं उसे टिप्स देता रहता हूं। रोहित कहते हैं कि मैंने सब सीखा तो धवन से ही है। मगर लगता है कि हम जल्दी बड़े हो गए है। कुछ साल पहले तक लगता था कि हम एनसीए में खेल रहे हैं लेकिन अब हम दोनों ही बाप बन गए हैं।

चैंपियंस ट्रॉफी में की थी पहली बार साथ में ओपनिंग

रोहित ने कहा कि शिखर धवन अंडर-19 वर्ल्डकप जीतकर आया था। सीरीज में इसका बहुत नाम था। मैंने इसके मैच भी देखे थे। यह मुझसे दो साल बड़ा है। उस वक्त मैं 16 साल का था। हम दोनों ने चैंपियंस ट्रॉफी में एक साथ पहली बार ओपनिंग की थी। मैंने भारत की तरफ से एक-दो बार ही ओपनिंग की थी। इतने बड़े टूर्नामेंट में ओपन करने के लिए धोनी ने मुझसे कहा और मैंने हां कर दी। उसके बाद मैं टेंशन में आ गया। मुझे लग रहा था कि मैं खेलूंगा या नहीं इस वजह से मैंने कोई तैयारी भी नहीं की थी। मुझे पता भी नहीं था कि मैं दक्षिण अफ्रीका के साथ खेल रहा हूं। मैंने शिखर से कहा कि स्ट्राइक तू लेगा या मैं तो उसने कहा कि मैं नहीं लेता। मैंने कहा कि भाई यह मेरा पहला मैच है तू ले ले लेकिन उसने कभी न करने का हवाला देते हुए मना कर दिया। उस मैच में हम दोनों ने 100 रन की पार्टनरशिप की थी। वो मैच हम जीत गए थे।

शिखर को सब पता होने के बाद भी कुछ नहीं पता

रोहित कहते हैं कि शिखर ने इतना क्रिकेट खेला है। सब पता है कि कौन सा गेंदबाज कैसी गेंद डालता है लेकिन यह जनाब मुझसे आकर पूछते हैं कि भाई डेल स्टेन आउट स्विंग डाल रहा है क्या, जबकि वो आउट स्विंग ही डालता है। डीआरएस के बारे में रोहित कहते हैं कि मैं कभी डिसीजन लेने के लिए गेंदबाज की बात सुनता नहीं हूं। क्योंकि वो हमेशा उत्साहित होकर यही कहता है कि डिसीजन ले लो। मैं कीपर से पूछता हूं कि असल में सीन क्या है।

कभी सपोर्टर भी मांग लेता हूं रोहित से : शिखर

रोहित कहते हैं कि शिखर को बल्लेबाजी से पहले एक बार टॉयलेट जाना जरूरी है। इसके साथ हमेशा यही रहता है। मुझे बैटिंग से पांच मिनट पहले तैयार होना पसंद है। मैं शुरुआत में इससे पूछता भी था कि भाई तेरे साथ हर मैच के पहले ऐसा कैसे होता है। पहली गेंद जबकि मुझे खेलनी होती है। मैं दबाव में होता हूं लेकिन हल्का इनको होना होता है। शिखर कहते हैं कि रोहित बहुत बड़ा भुलक्कड़ है। यह अपना फ्लाइट के अंदर पासपोर्ट ही भूल जाता है। इस पर रोहित ने कहा कि मुझसे ज्यादा शिखर भुलक्कड़ है। हर मैच में इसे मोजे देने पड़ते हैं। शिखर कहते हैं कि हां, मैं ले लेता हूं फिर देता ही नहीं हूं। शिखर ने हंसते हुए खुलासा किया कि कभी सपोर्टर की भी जरूरत पड़ जाती है तो वो भी मैं रोहित से मांग लेता हूं।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं


Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...