वेस्टइंडीज के गेंदबाज से हटा बैन, खास वजह से गेंदबाजी करने पर लगाई गई थी रोक 

रोनस्फोर्ड बीटन इसी साल मार्च में गेंदबाजी करने की रोक लगाई गई थी
रोनस्फोर्ड बीटन इसी साल मार्च में गेंदबाजी करने की रोक लगाई गई थी

वेस्टइंडीज के दाएं हाथ के तेज गेंदबाज रोनस्फोर्ड बीटन (Ronsford Beaton) का गेंदबाजी एक्शन क्लियर हो गया है और अब वह दोबारा से गेंदबाजी शुरू कर पाएंगे। हाल ही में उनके गेंदबाजी एक्शन का इंग्लैंड में आंकलन हुआ और उनका एक्शन पूरी तरह से वैध पाया गया।

इस तेज गेंदबाज के एक्शन को गुयाना नेशनल स्टेडियम में जमैका स्कॉर्पियन्स के खिलाफ वेस्टइंडीज चैंपियनशिप प्रथम श्रेणी मैच के दौरान रिपोर्ट किया गया था, जहां उन्होंने पांच विकेट लिए थे। बीटन ने तब अपनी कार्रवाई को फिर से तैयार करने के लिए उपचारात्मक कार्य किया, और वीडियो फुटेज को इस महीने की शुरुआत में विश्लेषण के लिए लॉफबोरो यूनिवर्सिटी भेजा गया।

बता दें कि बीटन को इस साल मार्च में क्रिकेट वेस्टइंडीज ने गेंदबाजी से ससपेंड कर दिया था क्योंकि संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन के लिए आईसीसी से मान्यता प्राप्त परीक्षण केंद्र लॉफबोरो यूनिवर्सिटी में एक स्वतंत्र मूल्यांकनकर्ता ने उनके एक्शन को अवैध करार दिया था।

तीसरी बार संदिग्ध एक्शन के घेरे में आये हैं बीटन

रोनस्फोर्ड बीटन के एक्शन का सवालों के घेरे में आना नई बात नहीं है। इससे पहले भी वह अपने एक्शन को लेकर फंस चुके हैं। यह तीसरी बार है जब बीटन को सस्पेंशन का सामना करना पड़ा है और बाद में अनुमति दे दी गई। दिसंबर 2017 में न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने दूसरे वनडे मैच के बाद, उन्हें रिपोर्ट किया गया था और बाद में उनके एक्शन के स्वतंत्र मूल्यांकन में विफल रहने के बाद ससपेंड कर दिया गया था। लेकिन बाद में उन्होंने सफलतापूर्वक अपने एक्शन को फिर से तैयार किया, और नवंबर 2019 में फिर से ससपेंड होने से पहले अगस्त 2018 के अंत में फिर से गेंदबाजी करने की मंजूरी प्राप्त की।

बीटन ने अभी तक वेस्टइंडीज के लिए केवल वनडे फॉर्मेट में ही डेब्यू किया है। उन्होंने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में खेले गए दो वनडे मुकाबलों में 1 विकेट चटकाया है और बल्ले से 15 रन बनाये हैं। वह आखिरी बार 2017 में वेस्टइंडीज के लिए खेले थे।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar