Create
Notifications

"जो रुट के लिए सचिन तेंदुलकर का रिकॉर्ड तोड़ना बहुत मुश्किल है"- पूर्व सलामी बल्लेबाज ने दी प्रतिक्रिया 

जो रुट के पास सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड को तोड़ने का मौका होगा
जो रुट के पास सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड को तोड़ने का मौका होगा
reaction-emoji
Prashant Kumar

इंग्लैंड के पूर्व टेस्ट कप्तान जो रुट (Joe Root) पिछले कुछ समय से बेहतरीन फॉर्म में हैं और इसी वजह से वह टेस्ट में सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) के सबसे ज्यादा रनों के रिकॉर्ड को तोड़ने के प्रबल दावेदार बन चुके हैं। हाल ही में उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में अपना 27वां टेस्ट शतक लगाया और इस फॉर्मेट में 10,000 रनों के आंकड़े को भी पूरा किया। एलिस्टेयर कुक के बाद इंग्लैंड के लिए 10,000 रन बनाने जो दूसरे बल्लेबाज हैं। रुट की फॉर्म और उम्र को देखकर कई दिग्गजों को उम्म्मीद है कि यह बल्लेबाज तेंदुलकर के रिकॉर्ड को तोड़ देगा। कुछ ऐसा ही पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) का भी मानना है। लेकिन उन्होंने यह भी कहा कि "अविश्वसनीय" रिकॉर्ड को तोड़ना बहुत मुश्किल है।

भारतीय दिग्गज तेंदुलकर 15921 रनों के साथ सबसे ज्यादा टेस्ट रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं, इसके बाद रिकी पोंटिंग (13378 रन), जैक कैलिस (13,289) और राहुल द्रविड़ (13,288) हैं। रूट (10191 रन) तेंदुलकर के रिकॉर्ड को चुनौती देने वाले निकटतम सक्रिय खिलाड़ी हैं।

टेस्ट क्रिकेट में सबसे पहले 10,000 रन बनाने वाले गावस्कर का मानना है कि क्रिकेट के खेल में कुछ भी संभव है। तेंदुलकर का रिकॉर्ड तोड़ने के लिए रुट को आगामी कई सालों तक ऐसी ही फॉर्म बरकरार रखनी होगी।

इंडिया टुडे से बातचीत में गावस्कर ने कहा,

यह एक अविश्वसनीय रिकॉर्ड है क्योंकि हम लगभग 6000 रन के बारे में बात कर रहे हैं, जिसका अर्थ है कि आपको वहां पहुंचने के लिए अगले 8 वर्षों में हर वर्ष लगभग 1000 रन या 800 रन बनाने होंगे। जो रूट की उम्र (31 साल) उनके पक्ष में है। वह निश्चित रूप से (रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं) यदि वह उस उत्साह को बनाये रखते हुए आगे बढ़ सकते हैं।

मानसिक थकान प्रभाव डाल सकती है - सुनील गावस्कर

गावस्कर का मानना है कि कई बार लम्बे समय तक खेलने पर मानसिक थकन की वजह से आपकी फॉर्म में गिरावट आती है। उन्होंने इंग्लैंड के पूर्व कप्तान एलिस्टेयर कुक का उदाहरण दिया, जो एक समय तेंदुलकर का रिकॉर्ड तोड़ने के सबसे प्रबल दावेदार थे। कुक अभी भी काउंटी क्रिकेट में अच्छा कर रहे हैं लेकिन उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया था।

कुक का उदाहरण देते हुए गावस्कर ने कहा,

एलिस्टेयर कुक ने संन्यास ले लिया लेकिन वह अभी भी प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेल रहे हैं। कभी-कभी, यदि आप चौबीसों घंटे खेल रहे हैं, तो आपका फॉर्म भी गिर सकता है क्योंकि मानसिक थकान आती है। रूट 150+ के स्कोर बना रहे हैं, लेकिन यह मानसिक और शारीरिक रूप से प्रभाव डाल सकते हैं।
खेल में कुछ भी संभव है। हमने पहले सोचा था कि रिचर्ड हेडली का 431 विकेट का रिकॉर्ड नहीं टूटेगा, लेकिन वह टूट गया। फिर हमने कर्टनी वॉल्श के 519 के बारे में सोचा... तो, मेरा मतलब है कि देखो हम कहाँ जा रहे हैं। (यह) असंभव नहीं है, लेकिन बहुत कठिन है।

Edited by Prashant Kumar
reaction-emoji

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...