Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

Hindi Cricket News- साल 2000 में हुए मैच फिक्सिंग स्कैंडल के आरोपी सटोरिए संजीव चावला को लंदन से दिल्ली लाया गया 

SENIOR ANALYST
Modified 13 Feb 2020
न्यूज़
Advertisement

साल 2000 में हुए मशहूर हेंसी क्रोनिए मैच फिक्सिंग स्कैंडल के अहम आरोपी सट्टेबाज संजीव चावला को लंदन से दिल्ली लाया गया है। 50 साल के संजीव चावला को दिल्ली की तिहाड़ जेल में रखा जाएगा। चावला के ऊपर आरोप है कि उसने साल 2000 में दक्षिण अफ्रीका के भारत दौरे पर मैच फिक्स किया था।

संजीव चावला के साथ दिल्ली पुलिस ने 2013 में, दिवगंत हेंसी क्रोनिए, राजेश कालरा, मनमोहन खट्टर, सुनील दारा उर्फ बिट्टू और किशन कुमार को आरोपी बनाते हुए चार्जशीट दायर की थी। हर्शल गिब्स और निकी बोए के खिलाफ पर्याप्त सबूत नहीं होने के कारण उनका नाम चार्जशीट से हटा दिया गया था।

चावला को सितंबर 2016 में भारत की अपील पर लंदन में गिरफ्तार कर लिया गया था। हालांकि उसके बाद चावला ने मानवाधिकारों का हवाला देकर अपने प्रत्यर्पण के खिलाफ यूरोपियन कोर्ट में चुनौती दी थी लेकिन उसकी अपील को खारिज कर दिया गया। पिछले हफ्ते यूरोपियन कोर्ट की ह्यमन राइट्स ने भी उसकी अपील खारिज कर दी थी और फिर उसे भारत को सौंपने का रास्ता साफ हो गया।

ये भी पढ़ें: डेल स्टेन दक्षिण अफ्रीका की तरफ से टी20 अंतर्राष्ट्रीय में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बने

आपको बता दें कि इस मैच फिक्सिंग स्कैंडल में शामिल दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान हेंसी क्रोनिए की 2002 में एक प्लेन क्रैश में मौत हो गई थी। इन सभी पर आरोप था कि 16 फरवरी और 20 मार्च 2000 को खेला गया मैच इन्होंने फिक्स किया था। मामले का खुलासा होने के बाद संजीव चावला लंदन भाग गया था।

20 साल पहले मैच फिक्सिंग के इस खुलासे से क्रिकेट जगत में हड़कंप मच गया था। इस फिक्सिंग का खुलासा एक फोन कॉल के ऑडियो टेप के जरिए हुआ था। उस फोन कॉल में संजीव चावला और हेंसी क्रोनिए के बीच बातचीत हो रही थी, जिसके जरिए इस बड़ै स्कैंडल का खुलासा हुआ था।

Published 13 Feb 2020, 19:21 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now