तमीम इकबाल के निचले क्रम में बल्लेबाजी करने के बयान को लेकर शाकिब अल हसन का पलटवार, स्वार्थी होने का लगाया आरोप 

वर्ल्ड कप से पहले बांग्लादेश क्रिकेट में विवाद शुरू हो चुका है
वर्ल्ड कप से पहले बांग्लादेश क्रिकेट में विवाद शुरू हो चुका है

बांग्लादेश क्रिकेट में वर्ल्ड कप शुरू होने से पहले एक विवाद खड़ा हो गया है। यह विवाद बांग्लादेश के दो सबसे अनुभवी खिलाड़ी तमीम इकबाल (Tamim Iqbal) और शाकिब अल हसन (Shakib Al Hasan) से जुड़ा हुआ है। शाकिब की कप्तानी में बांग्लादेश की टीम वर्ल्ड कप (World Cup 2023) खेलने जा रही है, जिसमें तमीम इकबाल को शामिल नहीं किया गया है।

बीसीबी के मुताबिक तमीम पूरी तरह से फिट नहीं थे इसलिए उन्हें टीम में शामिल नहीं किया। हालांकि तमीम का कहना है कि उन्हें ओपनिंग की बजाय नीचे बल्लेबाजी करने को कहा गया, जहां उन्होंने पहले कभी बल्लेबाजी नहीं की और उन्होंने ऐसा करने से मना कर दिया था। उन्होंने आरोप लगाया कि उन्हें अलग-अलग तरीकों से परेशान किया जा रहा है और वह इस गंदे खेल का हिस्सा नहीं बनेंगे।

अब कप्तान शाकिब ने तमीम पर पलटवार करते हुए कहा है कि हर बल्लेबाज को टीम की जरूरत के अनुसार किसी भी क्रम पर बल्लेबाजी करने के लिए हमेशा तैयार रहना चाहिए।

तमीम को शाकिब ने दिया जवाब

तमीम के इन आरोपों का जवाब देते हुए शाकिब-अल-हसन ने भी पलटवार किया है। उन्होंने बुधवार की रात, ढाका के एक टीवी चैनल टी-स्पोर्ट्स को दिए इंटरव्यू में कहा,

"मुझे पक्का यकीन है कि जिस भी अधिकारी ने (तमीम से) ऐसा कहा है, वो टीम के बारे में सोच रहा था। एक मैच के लिए सही कॉम्बिनेशन बनाने के लिए बहुत सारी चीजें करनी पड़ती है। तो, अगर किसी ने उनसे ऐसा कहा है, तो क्या वो गलत है? या हम ऐसा प्रस्ताव नहीं रख सकते? मैं सभी को बस इतना कहना चाह रहा हूं कि तुम जो करना चाहते हो वो करो। क्या हमारी प्राथमिकता टीम है या कोई व्यक्ति?"

शाकिब ने आगे रोहित शर्मा का उदाहरण दिया और कहा,

"हमें रोहित शर्मा जैसे खिलाड़ियों से सीखना चाहिए, जिन्होंने अपने करियर में नंबर-7 से लेकर ओपन तक किया, और 10,000 से ज्यादा रन बनाए। अगर वो कभी-कभी नंबर 3 या 4 पर बल्लेबाजी करेंगे, तो क्या ये कोई बड़ी समस्या है? यह तो बिल्कुल बचकानी बात है। एक खिलाड़ी को अपने टीम के लिए किसी भी पोजिशन पर बल्लेबाजी करनी चाहिए। टीम को प्राथमिकता देनी चाहिए। अगर आप 100 या 200 बना रहे हैं और टीम हार रही है, तो उससे कोई फर्क नहीं पड़ता। अपनी निजी उपलब्धियों से आप क्या कर सकते हैं? आप सिर्फ अपना नाम बनाना चाहते हैं?"

Quick Links

Edited by Prashant Kumar