Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

शाहिद अफरीदी के साथ सीनियर खिलाड़ियों को बुरा बर्ताव करते देखा है: शोएब अख्तर

Richa Gupta
ANALYST
न्यूज़
863   //    Timeless

Enter caption

शाहिद अफरीदी ने अपनी आत्मकथा गेम चेंजर लिखकर एक नए विवाद को जन्म दे दिया है। इसमें उन्होंने अपने क्रिकेट करियर के दौरान हुए उन सब अच्छे-बुरे अनुभवों को लिखा है, जिससे अभी तक सब अनजान थे। एक के बाद एक खुलासों ने हर क्रिकेट प्रेमी को हैरत में डाल दिया है। उन्होंने भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर पर कोई रिकॉर्ड न होने का आरोप लगाया। जावेद मियांदाद और वकार यूनिस को लेकर कई बातें कहीं, जो कुछ लोगों को पची नहीं। इमरान ताहिर ने भी खुले तौर पर अफरीदी का विरोध कर दिया और कहा कि उन्होंने कई खिलाड़ियों का करियर बर्बाद किया है। अब अफरीदी के समर्थन में पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर उतरे हैं। उन्होंने कहा है कि हां टीम में कुछ ऐसे वरिष्ठ खिलाड़ी थे, जिन्होंने बुरा व्यवहार किया था।

शोएब अख्तर ने कहा कि मुझे लगता है कि अफरीदी ने अपनी किताब में वरिष्ठ खिलाड़ियों के खराब व्यवहार के बारे में बहुत कम लिखा है। असलियत उससे भी ज्यादा थी। उसे और कहना चाहिए था। वैसे उसे यह बात 20 साल पहले कहनी चाहिए थी। अगर उसने सही वक्त पर ये बातें कही होतीं तो आज उसे किताब न लिखनी पड़ती। मैंने इस तरह की हरकतें अपनी आंखों से देखी हैं। तब मैं बहुत हैरान हुआ था। मैं अफरीदी की बातों से पूरी तरह इत्तेफाक रखता हूं। शोएब अख्तर ने बताया कि एक बार उन्हें चार खिलाड़ी मारने तक आ गए थे। यह बात ऑस्ट्रेलिया दौरे की है। 

शाहिद अफरीदी ने अपनी किताब में खुलासा किया था कि पाकिस्तान के पूर्व कोच जावेद मियांदाद ने उन्हें 1999 में भारत के खिलाफ चेन्नई में खेले गए मैच से पहले अभ्यास सत्र में हिस्सा नहीं लेने दिया था। यही नहीं अफरीदी ने यह भी बताया कि मियांदाद ने मैच के बाद होने वाले पुरस्कार वितरण समारोह में अपनी तारीफ करने को कहा था। इसके बाद उनके दिल में मियांदाद के लिए इज्जत खत्म हो गई थी। 


Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं

Tags:
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...