शोएब अख्तर ने बताया कि कैसे 1994 में उन्होंने गैरी कर्स्टन को प्रभावित किया था

Nitesh
शोएब अख्तर
शोएब अख्तर

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने गैरी कर्स्टन से जुड़ा एक बेहद दिलचस्प किस्सा बताया है। शोएब अख्तर ने बताया कि कैसे 1994 में उन्होंने गैरी कर्स्टन को प्रभावित किया था। तब शोएब अख्तर एक नेट बॉलर बनकर गए थे और गैरी कर्स्टन को गेंदबाजी की थी।

दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया की टीम विल्स ट्रायंगुलर ट्रॉफी खेलने के लिए पाकिस्तान दौरे पर गई हुई थी। ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को हराकर वो सीरीज जीती थी। टेस्ट मैच के स्पेशल पोडकास्ट में शोएब अख्तर ने बताया कि उन्हें दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजों को नेट में गेंदबाजी करने के लिए बुलाया गया था। नेट में उन्होंने गैरी कर्स्टन को गेंदबाजी की और वो उनसे काफी प्रभावित हुए और कहा कि तुम्हें पाकिस्तान की टीम में होना चाहिए।

ये भी पढ़ें: मुझे नहीं पता कि डेब्यू मैच में अर्धशतक लगाने के बावूजद मैं भारत के लिए दोबारा क्यों नहीं खेल पाया - फैज फजल

मैं दक्षिण अफ्रीका टीम का नेट गेंदबाज था। उनकी टीम के खिलाड़ी मेरे पास आए और गेंदबाजी करने को कहा। मुझे अभी भी पूरी तरह से याद है कि गैरी कर्स्टन और जोंटी रोड्स मेरे पास आए थे। मैंने गैरी कर्स्टन को कुछ गेंद डाली और उन्होंने मुझसे कहा कि तुम्हे नेट्स की बजाय टीम में होना चाहिए। मैंने पूछा कि क्या मैं महान तेज गेंदबाज बन सकता हूं। इस पर उन्होंने कहा कि तुम क्या मुझसे मजाक कर रहे हो। मैं पाकिस्तान टीम में तुम्हारी सिफारिश करने जा रहा हूं कि तुम्हें खिलाना चाहिए। लेकिन पाकिस्तान ने क्या किया, उन्होंने मुझे 4 साल बाद टीम में जगह दी जिसकी वजह से मेरा पीक चला गया था।

शोएब अख्तर ने 1997 में अपना डेब्यू किया था

आपको बता दें कि शोएब अख्तर ने 1997 में अपना डेब्यू किया था और वो पाकिस्तान के महान गेंदबाज बने। आज भी उनके नाम वर्ल्ड क्रिकेट में सबसे तेज गेंद डालने का रिकॉर्ड है। शोएब अख्तर ने टेस्ट और वनडे दोनों ही फॉर्मेट में जबरदस्त प्रदर्शन किया। वहीं गैरी कर्स्टन दक्षिण अफ्रीका के जबरदस्त क्रिकेटर थे। 2011 में भारतीय टीम ने उन्हीं की कोचिंग में वर्ल्ड कप का खिताब जीता था।

ये भी पढ़ें: वनडे और टी20 के 2 दिग्गज भारतीय क्रिकेटर जो टेस्ट क्रिकेट में सफल नहीं हो पाए

Quick Links

App download animated image Get the free App now