Create

'राहुल द्रविड़ चाहते तो श्रीलंका से टीम वापस ले जा सकते थे'

श्रीलंका क्रिकेट (SLC) ने हाल ही में भारत के खिलाफ समाप्त हुई सीमित ओवर सीरीज (SL vs IND) में राहुल द्रविड़ की भूमिका को लेकर सराहना की है। श्रीलंका क्रिकेट का कहना है कि यह दौरा बंद हो जाता लेकिन राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) के सहयोग की वजह से ऐसा नहीं हुआ। वनडे सीरीज में भारतीय टीम ने जीत हासिल की और टी20 में श्रीलंकाई टीम को जीत मिली।

क्रिकबज की रिपोर्ट के अनुसार श्रीलंका क्रिकेट के सेक्रेटरी मोहन डी सिल्वा ने कहा कि अगर द्रविड़ चाहते, तो अपनी टीम को लेकर वापस जा सकते थे। पूरे पांड्या (कोरोना) प्रकरण का सबसे उत्साहजनक पहलू राहुल के नेतृत्व वाली भारतीय टीम के सहयोगी स्टाफ की भूमिका थी। वह चाहते तो आसानी से टीम को भारत वापस ले जा सकते थे। स्टाफ मिलनसार था और स्थिति को भी समझता था। द्रविड़ ने हमारे द्वारा किए जा रहे प्रयासों की सराहना की और महसूस किया कि हम सभी बायो बबल दिशानिर्देशों के साथ लड़कों को वायरस के खतरों से बचाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं।

England Lions v India A - Day Three
England Lions v India A - Day Three

श्रीलंका क्रिकेट के सेक्रेटरी ने कहा कि यह हमारे लिए एक बहुत ही मूल्यवान दौरा था। हम लंबे समय से इसका इंतजार कर रहे थे। तीन अतिरिक्त टी20 मैच खेलने के हमारे अनुरोध को स्वीकार करने के लिए हम बीसीसीआई के शीर्ष अधिकारियों जय शाह और सौरव गांगुली के बहुत आभारी हैं। मुख्य रूप से इस दौरे पर तीन मैच खेले जाने थे और लक्ष्य रेवेन्यू को बढ़ाना था। हमने 14 मिलियन से भी ज्यादा डॉलर कमाए और यह हमारे फाइनेंस में वृद्धि है।

उल्लेखनीय है कि श्रीलंका दौरे पर वनडे सीरीज के बाद टी20 सीरीज का भी एक मैच पूरा हो गया था। इसके बाद क्रुणाल पांड्या कोरोना संक्रमित पाए गए और कुछ अन्य खिलाड़ियों को भी आइसोलेशन में भेज दिया गया। भारतीय टीम के पास महज 5 बल्लेबाज बचे थे। ऐसे में भारतीय टीम में छह गेंदबाजों को अगले दो मैचों के लिए खिलाया गया। पांच बल्लेबाजों के साथ मैदान पर उतरी भारतीय टीम को अगले दोनों मैचों में हार का सामना करना पड़ा। श्रीलंका ने सीरीज जीत ली लेकिन बीसीसीआई और भारतीय कोच ने दौरा बीच में नहीं छोड़ा।

Quick Links

Edited by निरंजन
Be the first one to comment