Create

श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने अपने पूर्व दिग्गज कप्तान को भेजा दो अरब रूपये का मानहानि नोटिस, जानें कारण

रणतुंगा की कप्तानी में ही श्रीलंका ने जीता था इकलौता विश्व कप
रणतुंगा की कप्तानी में ही श्रीलंका ने जीता था इकलौता विश्व कप
Neeraj Pandey

श्रीलंका के पूर्व कप्तान अर्जुन रणतुंगा (Arjuna Ranatunga) बड़ी मुसीबत में फंसते दिख रहे हैं। दरअसल हाल ही में श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड (SLC) को लेकर दिए गए बयान को लेकर वह फंसते नजर आ रहे हैं। उन्होंने अपने बयान में बोर्ड पर कुछ आरोप लगाए थे जिन्हें बोर्ड ने अब झूठा करार दे दिया है। इसके साथ ही बोर्ड ने रणतुंगा पर जानबूझकर झूठ फैलाने का आरोप लगाते हुए उनसे दो अरब रूपये की मांग की है।

SLC का कहना है कि रणतुंगा ने हाल ही में एक मीडिया इंटरव्यू के दौरान बोर्ड को लेकर गलत बयान दिए थे। अब बोर्ड ने काफी विचार करने के बाद विश्व कप जीतने वाले कप्तान के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज किया है। हाल ही में इस मामले को लेकर बोर्ड ने इमरजेंसी मीटिंग की थी। बोर्ड के बयान के मुताबिक,

रणतुंगा ने गलत भावना के साथ बातचीत की थी और बोर्ड की अस्मिता को चोट पहुंचाया था। उन्होंने जानबूझकर गलत और झूठे आरोप लगाए थे और श्रीलंका क्रिकेट की एग्जीक्यूटिव कमेटी पर निशाना साधा था।

श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड को हुआ है आर्थिक नुकसान

श्रीलंका क्रिकेट को हाल ही में काफी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा है। भले ही देश में क्रिकेट का एक्शन रुका नहीं है, लेकिन इसके बावजूद बोर्ड की कमाई में अंतर आया है। ऑस्ट्रेलिया का दौरा यदि रद्द हुआ होता तो बोर्ड काफी बड़ी मुसीबत में फंस सकता था। हालांकि, इस दौरे ने श्रीलंका को इस हालत में रखा है कि उनके देश में क्रिकेट सही तरीके से चलता रह पाएगा।

इन सबके बीच श्रीलंका के हाथ से एशिया कप को होस्ट करने का मौका जरूर फिसल गया है। देश में चल रही परेशानियों के कारण अब एशिया कप का आयोजन UAE में हो रहा है। हालांकि, श्रीलंका फिर भी होस्ट बना रहेगा। यदि टूर्नामेंट का आयोजन श्रीलंका में ही होता तो अधिकतर कमाई बोर्ड खुद करती, लेकिन अब उन्हें UAE को भी कुछ हिस्सा देना होगा।


Edited by Prashant Kumar

Comments

comments icon

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...