सौरव गांगुली ने महेंद्र सिंह धोनी को टी20 के प्रति अपना रवैया बदलने की दी सलाह

न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे टी20 मैच में धीमी बल्लेबाजी के बाद आलोचनाओं का शिकार हुए महेंद्र सिंह धोनी को भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने बड़ी सलाह दी है। उन्होंने धोनी से टी20 मैचों के प्रति अपना रवैया बदलने को कहा है। गांगुली का कहना है कि धोनी टी20 मैचों में अलग तरह का रवैया अपनाएं, इससे उन्हें फायदा होगा। गांगुली ने कहा कि एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय की तुलना में उनका टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों रिकॉर्ड उतना अच्छा नहीं है। उम्मीद है कि विराट कोहली और टीम प्रबंधन उनसे अलग से बात करेगा। गांगुली ने कहा कि धोनी के अंदर काफी काबिलियत है और अगर वो टी20 मैचों के प्रति अपने रवैये में बदलाव लाते हैं तो फिर वो इसमें सफलता हासिल कर सकते हैं। सौरव गांगुली का ये भी कहना है कि धोनी के अंदर अभी काफी क्रिकेट बाकी है, खासकर एकदिवसीय क्रिकेट में। उन्होंने कहा कि धोनी को एकदिवसीय क्रिकेट खेलते रहना चाहिए लेकिन टी20 मैचों के प्रति अपने रवैये में बदलाव लाना चाहिए। उसे खुलकर टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेलने चाहिए। ये सब चयनकर्ताओं पर निर्भर करता है कि वे धोनी को कैसे खिलाना चाहते हैं।

गौरतलब है न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे टी20- मैच में लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम को धुआंधार बल्लेबाजी की जरुरत थी, लेकिन धोनी की धीमी बल्लेबाजी की वजह से आवश्यक रन रेट बढ़ता चला गया और भारतीय टीम को हार का सामना करना पड़ा। इसके बाद वीवीएस लक्ष्मण और अजीत अगकर जैसे पूर्व दिग्गज खिलाड़ियों ने टी20 मैचों में धोनी की क्षमता पर सवाल उठाए थे। हालांकि इसके बाद भारतीय टीम के कोच रवि शास्त्री और कप्तान विराट कोहली ने धोनी का बचाव किया और कहा कि वो काफी बेहतरीन खिलाड़ी हैं। वहीं महेंद्र सिंह धोनी ने भी इस पर बयान दिया था और कहा था कि सबकी अपनी व्यक्तिगत राय होती है और उसका सम्मान किया जाना चाहिए।
Edited by Staff Editor