COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

क्रिकेट न्यूज: सौरव गांगुली के खिलाफ हितों के टकराव की शिकायत, 7 दिन में देना होगा जवाब

Richa Gupta
ANALYST
न्यूज़
464   //    04 Apr 2019, 11:12 IST

Enter caption

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली दोहरी भूमिकाएं निभाने जाने की वजह से मुसीबत में फंसते नजर आ रहे हैं। वह वर्तमान में बंगाल क्रिकेट संघ के अध्यक्ष होने के साथ इंडियन प्रीमियर लीग में दिल्ली कैपिटल्स के सलाहकार भी हैं। इसको लेकर पहले भी बीसीसीआई लोकपाल डीके जैन बोल चुके हैं कि अगर उनके पास सौरव गांगुली के कथित हितों के टकराव की शिकायत आई तो वह मामले को पूरी गंभीरता से लेंगे। अब उन्हें दादा के खिलाफ हितों के टकराव की तीन शिकायतें मिली हैं। इस मामले में न्यायमूर्ति ने पूर्व खिलाड़ी से एक हफ्ते के अंदर जवाब मांगा है। 

बंगाल के तीन क्रिकेट प्रशंसकों अभिजीत मुखर्जी, रंजीत सील और बास्वती शांतुआ ने लोकपाल डीके जैन को पत्र लिखकर अपनी शिकायत दर्ज करवाई है। उन्होंने कहा कि बंगाल क्रिकेट संघ के अध्यक्ष पद पर रहने के बावजूद सौरव गांगुल दिल्ली कैपिटल्स के खेमे में कैसे बैठ सकते हैं? उनका दिल्ली टीम में सलाहकार की भूमिका निभाना सरासर गलत है। इस पर ध्यान देने की जरूरत है। 

इस बाबत बीसीसीआई लोकपाल डीके जैन ने कहा कि हां, मैंने सौरव गांगुली के खिलाफ हितों के टकराव की शिकायतें आने के बाद उनसे मामले में एक हफ्ते के अंदर जवाब मांगा है। उनके पास अपना पक्ष रखने के लिए पूरे एक हफ्ते का वक्त है। मैं किसी मैच को लेकर परेशान नहीं हूं। यह एक सार्वजनिक शिकायत है और गांगुली को इस मामले में अपना पक्ष रखना जरूरी होगा, तभी स्थिति साफ हो सकती है और जांच को आगे बढ़ाते हुए निष्कर्ष पर पहुंचा जा सकता है। गांगुली ने दिल्ली से जुड़ने से पहले साफ कर दिया था कि उन्होंने प्रशासकों की समिति (सीओए) से इसके लिए मंजूरी ले ली है। इसके बाद हितों के टकराव का कोई मामला नहीं पैदा होगा। एक शिकायकर्ता ने कहा है कि 12 अप्रैल को कोलकाता और दिल्ली के बीच आईपीएल का मैच होना है। ईडेन गार्डन पर होने वाले मुकाबले में सौरव गांगुली कैसे दोहरी भूमिका निभा सकते हैं। इससे दोनों के हितों के टकराव की स्थिति पैदा होगी। 

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं

Tags:
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...