सिर्फ 642 गेंदों में टेस्ट खत्म होने से बना चौंकाने वाला रिकॉर्ड, भारत-दक्षिण अफ्रीका के बीच अनोखा आंकड़ा 

South Africa v India - 2nd Test
South Africa v India - 2nd Test

दक्षिण अफ्रीका और भारत के बीच केपटाउन में खेला गया दो मैचों की सीरीज (SA vs IND) का दूसरा मुकाबला सिर्फ दो दिनों के अंदर ही खत्म हो गया। इस मुकाबले में भारतीय टीम ने 7 विकेट से जीत दर्ज की और सीरीज 1-1 से ड्रॉ कराने में कामयाबी हासिल की, साथ ही केपटाउन के मैदान में पहली टेस्ट जीत भी दर्ज की। इस मैच में कई सारी चौंकाने वाली चीजें देखने को मिलीं लेकिन सबसे ज्यादा हैरान करने वाला आंकड़ा मैच के बाद सामने आया। 147 साल के टेस्ट इतिहास का यह सबसे छोटा मुकाबला रहा, जिसमें कोई टीम विजेता बनने में कामयाब रही हो।

केपटाउन टेस्ट में सिर्फ 642 गेंदों का ही खेल देखने को मिला, जिसकी वजह से यह गेंदों के आधार पर अब तक का पूरा होने वाला सबसे छोटा मैच रहा। इस मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका ने अपनी पहली पारी में 23.2 और भारत ने अपनी पहली पारी में 34.5 ओवर खेले। इसके बाद दूसरी पारी में दक्षिण अफ्रीका ने 36.5 ओवर खेलने में कामयाबी हासिल की, जवाब में भारत ने निर्धारित लक्ष्य को 12 ओवर में ही हासिल कर लिया। इस तरह मुकाबले में कुल 107 ओवर ही देखने को मिले।

इससे पहले सबसे छोटा टेस्ट मैच 1932 में ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के बीच मेलबर्न में खेला गया था। उस मुकाबले में 656 गेंदों का खेल हुआ था और ऑस्ट्रेलिया ने विजेता बनने में कामयाबी हासिल की थी।

गौरतलब हो कि दक्षिण अफ्रीका और भारत के बीच खेली गई टेस्ट सीरीज पर गौर करें, तो दोनों मुकाबलों को भी मिलाकर पूरे पांच दिन का खेल देखने को नहीं मिला। सेंचुरियन में दक्षिण अफ्रीका ने तीन दिनों के अंदर ही भारत को हरा दिया था और अब केपटाउन में नतीजा विपरीत रहा लेकिन मुकाबला दो दिनों के अंदर ही समाप्त हो गया।

गेंदों के लिहाज से सबसे छोटे पूर्ण मैचों की लिस्ट

642 - दक्षिण अफ्रीका बनाम भारत, केपटाउन, 2024

656 - ऑस्ट्रेलिया बनाम दक्षिण अफ्रीका, मेलबर्न, 1932

672 - वेस्टइंडीज बनाम इंग्लैंड, ब्रिजटाउन, 1935

788 - इंग्लैंड बनाम ऑस्ट्रेलिया, मैनचेस्टर, 1888

792 - इंग्लैंड बनाम ऑस्ट्रेलिया, लॉर्ड्स, 1888

Quick Links

Edited by Prashant Kumar