Create
Notifications

बैन समाप्त होने के बाद केरल रणजी टीम की तरफ से खेल सकते हैं श्रीसंत-रिपोर्ट

श्रीसंत
श्रीसंत
सावन गुप्ता

तेज गेंदबाज श्रीसंत क्रिकेट में वापसी के लिए पूरी तरह तैयार हैं। श्रीसंत अपना बैन समाप्त होने के बाद केरल की रणजी टीम की तरफ से खेल सकते हैं। रिपोर्ट के मुताबिक अगर श्रीसंत फिटनेस टेस्ट पास कर लेते हैं तो केरल की टीम उन्हें आगामी रणजी सीजन के लिए अपनी टीम में शामिल कर सकती है।

एशियानेट की खबर के मुताबिक एस श्रीसंत को केरल की रणजी टीम में जगह मिल सकती है लेकिन उससे पहले उन्हें अपना फिटनेस टेस्ट पास करना होगा। 2013 आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग में लिप्त पाए जाने के बाद श्रीसंत पर आजीवन बैन लगा दिया गया था लेकिन बाद में उनके बैन को 7 साल तक के लिए सीमित कर दिया गया। श्रीसंत का बैन सितंबर में समाप्त हो जाएगा और उसके बाद वो क्रिकेट में वापसी कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें: इरफान पठान ने आईपीएल के आयोजन को लेकर दी बड़ी प्रतिक्रिया

केरल क्रिकेट एसोसिएशन ने ऐलान किया है कि श्रीसंत को टीम में शामिल किया जाएगा और अफीशियल्स ने इसके लिए कोच टीनू जॉन से भी बात कर ली है। ये अभी स्पष्ट नहीं है कि कोरोना वायरस के कारण आगामी रणजी ट्रॉफी सीजन का आयोजन होगा या नहीं लेकिन श्रीसंत का बैन समाप्त होने के बाद केसीए उनको बुलाएगी।

वहीं केरल के प्रमुख तेज गेंदबाज संदीप वॉरियर अगले सीजन से तमिलनाडु के लिए खेल सकते हैं। इससे केरल की टीम में श्रीसंत की वापसी का रास्ता साफ हो जाएगा। अगर वो पूरी तरह फिट रहते हैं तो फिर उन्हें केरल की जर्सी में खेलते हुए देखा जा सकता है।

आपको बता दें कि श्रीसंत काफी बेसब्री से भारतीय टीम के लिए खेलना चाहते हैं। एक महीने पहले ही उन्होंने बयान दिया था कि वो भारतीय टीम के साथ 2023 में वर्ल्ड कप का खिताब जीतना चाहते हैं।

ये भी पढ़ें: नसीम शाह ने दी इंग्लैंड को चेतावनी, कहा मुझे हल्के में लेने की भूल ना करें

भारतीय टीम के लिए वर्ल्ड कप जीतना चाहते हैं श्रीसंत

स्पोर्ट्सकीड़ा के साथ खास बातचीत में श्रीसंत ने कहा था कि मैं काफी सालों से अपनी बारी का इंतजार कर रहा हूं। मैं वास्तविकता के साथ रहने की कोशिश कर रहा था लेकिन अब मैं ऐसा नहीं कर सकता। अब मैं अनवास्तविक लक्ष्य अपने लिए निर्धारित कर रहा हूं और वो पूरा भी हो रहा है। इसलिए अब अगला अनवास्तविक लक्ष्य मेरे लिए है कि मैं 2023 का वर्ल्ड कप खेलूं और भारतीय टीम के लिए जीतूं। उसके बाद मैं संन्यास ले लूंगा। मिस्बाह उल हक ने 42 साल की उम्र तक खेला, सचिन तेंदुलकर ने 42 साल की उम्र तक खेला, राहुल भाई ने 42 साल की उम्र तक आईपीएल खेला।'

View this post on Instagram

SK Live with Sreesanth

A post shared by SportsKeeda Cricket (@sportskeedacricket) on


Edited by सावन गुप्ता

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...