Create
Notifications

2019 विश्वकप में खेलना मेरा सपना है: एस श्रीसंत

Naveen Sharma
FEATURED WRITER
Modified 21 Sep 2018
भारतीय तेज गेंदबाज एस श्रीसंत के ऊपर बीसीसीआई द्वारा लगाए गए आजीवन प्रतिबंध को केरल हाईकोर्ट ने हटाने का निर्णय सुनाने के बाद इस खिलाड़ी ने प्रतिक्रिया व्यक्त की है। 34 वर्षीय श्रीसंत ने पिछले 4 वर्षों में आधिकारिक रूप से मैदान पर वापसी नहीं की है। उन्होंने कहा है कि उनका सपना 2019 विश्वकप में भारतीय टीम की तरफ से खेलने का है। बकौल श्रीसंत " भारत के लिए 2019 विश्वकप में खेलना मेरा सपना है। मुझे पता है कि यह असमभव सा है लेकिन ऐसा होता है, तो एक चमत्कार होगा। मेरा हमेशा विश्वास रहा है कि चमत्कार होते हैं।" इस तेज गेंदबाज को यह आशा है कि उनके देश का प्रतिनिधित्व करने में फिटनेस उनका साथ देगी। उन्होंने उम्र की बात पर मिस्बाह-उल-हक़, यूनिस खान और सचिन तेंदुलकर का उदहारण देते हुए उन्हें प्रेरणा बताया और खुद को फिट रखने की बात भी कही। हालांकि श्रीसंत को यह मालूम है कि उन्हें टीम में वापसी करने के लिए काफी कॉम्पीटिशन से गुजरना होगा और उनका लक्ष्य केरल की तरफ से रणजी ट्रॉफी खेलना है। उनके अनुसार "मुझे लगता है कि अभी भी स्कॉटिश लीग में कुछ मैच बचे हैं और मैं वहां कम से कम एक मैच तो खेल सकता हूं। मेरे पास दो ही लक्ष्य है। सबसे वास्तविक लक्ष्य केरल के लिए रणजी ट्रॉफी जीतना है। हमारे पास अब काफी प्रतिभाशाली क्रिकेटर हैं। मैं अपना अनुभव उनके साथ बांट सकता हूं और मेरे राज्य के लिए खेलना अच्छा होगा।" गौरतलब है कि 2013 आईपीएल के दौरान श्रीसंत और राजस्थान रॉयल्स के उनके दो अन्य साथी अजित चंदेला और अंकित चौहान पर स्पॉट फिक्सिंग के आरोप लगने के बाद दिल्ली पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। बीसीसीआई ने इसके बाद उन्हें सस्पेंड कर दिया था। इसके बाद दिल्ली की अदालत द्वारा बरी होने पर भी बीसीसीआई से राहत नहीं मिलने के कारण उन्होंने केरल हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था और वहां उन्हें राहत मिली।
Published 08 Aug 2017
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now