श्रीलंकाई बल्लेबाज उपुल थरंगा ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से लिया संन्यास

श्रीलंका (Sri Lanka) के बल्लेबाज उपुल थरंगा (Upul Tharanga) ने मंगलवार (23 फरवरी) को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी। उन्होंने आखिरी बार श्रीलंका के लिए केपटाउन में 2019 के दक्षिण अफ्रीका दौरे पर एकदिवसीय मैच खेला था। थरंगा के अपने संन्यास के बारे में ट्विटर पर एक लम्बा पोस्ट लिखते हुए बताया।

थरंगा ने लिखा " जैसा कि अच्छी पुरानी कहावत है" सभी अच्छी चीजें समाप्त होनी चाहिए, मेरा मानना है कि खेल को मेरे 15 साल देने के बाद मेरे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर के लिए विदाई का समय है।

थरंगा ने श्रीलंका के लिए 31 टेस्ट खेले, जिसमें 21.89 की औसत से 1754 रन बनाए, इसमें तीन शतक और आठ अर्द्धशतक शामिल थे। उन्होंने दिसंबर 2005 में भारत के खिलाफ अहमदाबाद में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया और अपना आखिरी मैच भी 2017 में पल्लेकेले में भारत के खिलाफ खेला।

उपुल थरंगा वनडे में रहे सफल

बाएं हाथ के बल्लेबाज और एक सामयिक विकेटकीपर, थरंगा अपने देश के लिए एकदिवसीय प्रारूप में सबसे सफल रहे, उन्होंने अगस्त 2005 में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने डेब्यू के बाद से खेले गए 235 मैचों में श्रीलंका के लिए 33.74 की औसत से 6951 रन बनाए। इसमें 15 शतक और 37 अर्धशतक शामिल थे। नाबाद 174 रन उनके करियर का सर्वश्रेष्ठ स्कोर था। शतक के मामले में श्रीलंकाई क्रिकेट में वह पांचवें स्थान पर रहे।

नवंबर 2016 से नियमित रूप से कप्तान एंजेलो मैथ्यूज की चोटों के कारण सीमित ओवरों के कप्तान के रूप में कार्य थरंगा को सौंप दिया गया था, जब बाद में जुलाई 2017 में वह श्रीलंका के सभी प्रारूपों के कप्तान भी नियुक्त किये गए थे।

टेस्ट एक वनडे प्रारूप में खेलने के अलावा उपुल थरंगा ने टी20 अंतर'राष्ट्रीय क्रिकेट भी खेला। श्रीलंकाई टीम के लिए उन्होंने कुल 26 टी20 मुकाबले खेले। इस दौरान उनके बल्ले से 407 रन आए और 47 रन उनका उच्चतम स्कोर रहा।

Quick Links

Edited by निरंजन