Create
Notifications

INDvSL: वनडे में भी बादशाहत बरक़रार रखने के इरादे से उतरेगी टीम इंडिया, श्रीलंका के पास इतिहास रचने का मौक़ा

Syed Hussain
visit

धर्मशाला में मिली श्रीलंका से हार का करारा जवाब मोहाली में टीम इंडिया ने कप्तान रोहित शर्मा की मैजिकल पारी से दिया। जिसके बाद 3 मैचों की सीरीज़ 1-1 से बराबर हो गई है और अब तीसरा एकदिसवीय हो चुका है वर्चुअल फ़ाइनल। यानी मौसम के साथ साथ खेल में भी पारा चढ़ना लाज़िमी है, अब तक उत्तरी भारत में ठंड में खेल रही श्रीलंकाई टीम पहुंच चुकी है भारत के दक्षिणी भाग विशाखापट्नम जहां का मौसम कोलंबो और गॉल की ही तरह है। लिहाज़ा उन्हें इस मामले में माहौल तो घर जैसा मिलने की पूरी उम्मीद है, पर मैदान पर मोहाली में हुआ वार उन्हें डरा ज़रूर रहा है। इतिहास रचने के बेहद क़रीब खड़ी है श्रीलंकाई टीम टेस्ट सीरीज़ हारने वाली श्रीलंकाई टीम के पास एक बेहद सुनहरा मौक़ा है, अगर वह विशाखापट्नम वनडे जीत जाती है तो 3 मैचों की सीरीज़ भी अपने नाम कर लेगी। जो एक रिकॉर्ड होगा, क्योंकि भारतीय सरज़मीं पर श्रीलंकाई टीम ने अभी तक कोई भी द्विपक्षीय सीरीज़ नहीं जीती है। श्रीलंका को आख़िरी बार भारत के ख़िलाफ़ सीरीज़ में जीत 1997 में ज़रूर हासिल हुई थी लेकिन अपने ही घर में, लिहाज़ा इस अवसर को भुनाने के लिए थिसारा परेरा एंड कंपनी एड़ी चोटी का ज़ोर लगा देगी। श्रीलंका के लिए अच्छी बात है एंजेलो मैथ्यूज़ का शानदार बल्लेबाज़ी फ़ॉर्म, जिन्होंने मोहाली में 4 साल बाद वनडे क्रिकेट में शतक लगाया। टीम इंडिया की नज़र लगातार 8वीं वनडे सीरीज़ जीत पर श्रीलंका अगर इतिहास रचने के क़रीब है तो रोहित शर्मा कतई नहीं चाहेंगे कि भारत का हालिया इतिहास उनकी कप्तानी में ख़राब हो। टीम इंडिया ने पिछली 7 बायलेटरल वनडे सीरीज़ में जीत दर्ज की है, आख़िरी बार भारत को 2016 में ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर वनडे सीरीज़ में हार मिली थी। ऐसे में इस बेहतरीन रिकॉर्ड को ये टीम कतई ख़राब नहीं करना चाहेगी, इसके लिए एक बार फिर ज़िम्मेदारी बल्लेबाज़ों को लेनी होगी। यानी कप्तान रोहित शर्मा, शिखर धवन, युवा श्रेयस अय्यर, दिनेश कार्तिक और महेंद्र सिंह धोनी के इर्द गिर्द ही टीम की उम्मीदें रहेंगी। बात अगर गेंदबाज़ी की करें, तो एक बार फिर टीम इंडिया मोहाली के कॉम्बिनेशन के साथ ही उतरेगी। भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह के साथ नए गेंद के साथ जहां हार्दिक पांड्या होंगे तो स्पिन विभाग की ज़िम्मेदारी युजवेंद्र चहल और युवा वाशिंगटन सुंदर के कंधों पर रहेगी। मतलब साफ़ है बेंच पर बैठे तेज़ गेंदबाज़ सिद्धार्थ कौल को टीम इंडिया की नीली कैप के लिए अभी और इंतज़ार करना होगा, क्योंकि इस निर्णायक मैच में टीम मैनेजमेंट किसी तरह का कोई प्रयोग नहीं करना चाहेगी। पिच का पेंच और मौसम का मिज़ाज आंध्र प्रदेश के इस दूसरे बड़े शहर विशाखापट्नम में मौसम बिल्कुल क्रिकेट के लिए उपयुक्त रहने की उम्मीद है। रविवार को वाइज़ैग में अधिकतम तापमान 29 और न्यूनतम तापमान 19 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है। मौसम विभाग के अनुसार मैच में बारिश के ख़लल डालने की उम्मीद भी नहीं है, हां शाम के बाद इस समुद्र के किनारे बसे शहर में ओस गिरने की संभावना ज़रूर है। बात अगर पिच की करें तो ये धर्मशाला और मोहाली से अलग होगी, जहां गेंद बल्ले पर अच्छे से आएगी और साथ ही साथ स्पिन गेंदबाज़ों को भी पिच से मदद मिल सकती है। हालांकि इस पिच पर सिर्फ़ एक बार 300+ रन का आंकड़ा बना है, जो 2005 में भारत ने पाकिस्तान के ख़िलाफ़ बनाया था। ये वही मैच था जिसमें महेंद्र सिंह धोनी ने 148 रन बनाते हुए अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अपनी दस्तक दे दी थी। इसे भी पढ़ें: महेंद्र सिंह धोनी और विशाखापट्टनम के साथ उनका जुड़ाव आंकड़ों का पॉवर टीम इंडिया के साथ विशाखापट्नम के इस स्टेडियम में अब तक भारत ने कुल 7 मुक़ाबले खेले हैं जिसमें से 5 में उन्हें जीत मिली है, एक मैच बारिश की भेंट चढ़ गया था जबकि एक बार उन्हें हार का सामना करना पड़ा है। भारत और श्रीलंका के बीच इस मैदान पर खेले गए एकमात्र मैच में टीम इंडिया को 7 विकेट से जीत नसीब हुई थी। ये मैदान महेंद्र सिंह धोनी के लिए भी काफ़ी अच्छा रहा हैं, जहां उन्होंने 4 पारियों में 80 की औसत से 240 रन बनाए हैं। महेंद्र सिंह धोनी वनडे अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में 10 हज़ार रनों का आंकड़ा छूने से महज़ 102 रन दूर हैं, ऐसे में अगर उन्हें इस मैच में नंबर-4 पर बल्लेबाज़ी करने का मौक़ा मिला तो हो सकता है इस मैदान की याद उनके लिए और भी शानदार हो जाए और विशाखापट्नम में ही वह 10 हज़ार के स्पेशल क्लब में शामिल हो जाएं। धोनी से ज़्यादा रन इस मैदान पर बस विराट कोहली ने बनाए हैं, कोहली ने 4 पारियों में 2 शतक और 2 अर्धशतक के साथ 99.75 की औसत से 399 रन बनाए हैं। हालांकि टीम इंडिया के मौजूदा कप्तान रोहित शर्मा के लिए भी ये मैदान हमेशा रनों से भरा रहा है, रोहित ने इस मैदान पर 3 पारियों में 2 अर्धशतक लगाए हैं और उनकी औसत 86 की रही है। एक नज़र दोनों ही टीमों की प्लेइंग-XI पर इस बात की पूरी संभावना है कि टीम इंडिया इस निर्णायक मैच में कोई भी परिवर्तन नहीं करने वाली, यानी मोहाली की विजेता टीम ही विशाखापट्नम में भी मैदान पर उतर सकती है। तो वहीं श्रीलंका ख़राब फ़ॉर्म से जूझ रहे लहिरू थिरिमने को बाहर कर सकता है और उनकी जगह सदीरा समाराविक्रमा को आख़िरी-11 में शामिल किया जा सकता है। टेस्ट सीरीज़ में सदीरा भारत के ख़िलाफ़ तीनों ही टेस्ट मैच में प्लेइंग-XI का हिस्सा रहे थे। भारत संभावित-XI: रोहित शर्मा, शिखर धवन, श्रेयस अय्यर, दिनेश कार्तिक, मनीष पांडे, महेंद्र सिंह धोनी, हार्दिक पांड्या, वाशिंगटन सुदंर, भुवनेश्वर कुमार, युजवेंद्र चहल और जसप्रीत बुमराह श्रीलंका संभावित-XI: दनुश्का गुणाथिलाका, उपल थरंगा, सदीरा समाराविक्रमा, एंजेलो मैथ्यूज़, निरोशन डिकवेला, असेला गुणारत्ने, थिसारा परेरा, सचिथ पथिराणा, सुरंगा लकमल, अकीला धनंजय, नुवान प्रदीप


Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now