Create

श्रीलंकाई खिलाड़ियों ने कम सैलरी का आरोप लगाते हुए अनुबंध पर साइन करने से मना किया

श्रीलंका (Sri Lanka) की राष्ट्रीय टीम के खिलाड़ियों ने क्रिकेट बोर्ड की ओर से पारदर्शिता की कमी का आरोप लगाते हुए वार्षिक केंद्रीय अनुबंध पर हस्ताक्षर करने से इनकार कर दिया है। निर्णय आश्चर्यजनक नहीं था क्योंकि लगभग सभी वरिष्ठ खिलाड़ियों ने एकजुट होकर यह स्पष्ट कर दिया था कि श्रीलंका क्रिकेट (एसएलसी) द्वारा दिए गए अनुबंध उनकी पसंद के नहीं हैं और कुछ प्रदर्शन करने वालों को भी बाहर रखा गया।

खिलाड़ियों ने एक सामूहिक बयान में कहा कि उन्होंने इंग्लैंड के आगामी दौरे के लिए अनुबंध पर हस्ताक्षर नहीं करने का फैसला किया है और न ही वे भविष्य के किसी अनुबंध में प्रवेश करेंगे। श्रीलंका क्रिकेट (एसएलसी) ने घोषणा की थी कि प्रमुख खिलाड़ियों में से 24 को 4 श्रेणियों के तहत अनुबंध की पेशकश की गई थी और उन्हें अनुबंध पर हस्ताक्षर करने के लिए 3 जून तक की समय सीमा दी गई थी।

धनंजय डी सिल्वा सबसे ज्यादा वेतन वाले श्रीलंकाई खिलाड़ी

वार्षिक रिटेनरशिप 70,000 से 100,000 अमेरिकी डॉलर के बीच थी। स्टार बल्लेबाज धनंजय डी सिल्वा को सबसे अधिक भुगतान किए जाने वाले (100,000 डॉलर) खिलाड़ी रूप में नामित किया गया था। पिछले महीने विवाद और बातचीत के चरम पर खिलाड़ियों ने कहा कि उनको प्रस्तावित पारिश्रमिक फेडरेशन ऑफ इंटरनेशनल क्रिकेट एसोसिएशन (FICA) से प्राप्त जानकारी के अनुसार अन्य काउंटियों के खिलाड़ियों को किए गए भुगतान की तुलना में तीन गुना कम है।

उल्लेखनीय है कि श्रीलंका के 18 जून से 4 जुलाई तक इंग्लैंड का दौरा करने की उम्मीद है, जहां वे तीन वनडे और इतने ही टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलेंगे। हालांकि खिलाड़ियों ने यह भी स्पष्ट किया है कि वे किसी भी समय देश के लिए खेलने से इनकार नहीं करेंगे, भले ही उन्होंने अनुबंध पर हस्ताक्षर नहीं किये हों और एसएलसी उन्हें उनके वेतन का भुगतान करने से मना कर दे।

Quick Links

Edited by Naveen Sharma
Be the first one to comment