Create
Notifications

Hindi Cricket News: टेस्ट चैंपियनशिप पहले होती तो हमारी जीत को अधिक महत्व दिया जाता- स्टीव वॉ

स्टीव वॉ
स्टीव वॉ
Richa Gupta
visit

एक अगस्त से ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच एशेज टेस्ट सीरीज शुरू होने जा रही है। इसके साथ ही वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप भी शुरू हो जाएगी। टेस्ट क्रिकेट की घटती लोकप्रियता को बढ़ाने के उद्देश्य से आईसीसी ने यह चैंपियनशिप शुरू की है। आईसीसी की इस पहल की पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव वॉ ने तारीफ की है। उन्होंने कहा कि यह चैंपियनशिप टेस्ट क्रिकेट की बेहतरी के लिए है। इससे क्रिकेट के लंबे समय वाले प्रारूप में रोमांच आएगा।

स्टीव वॉ ने कहा, "मैंने 18 साल तक क्रिकेट खेला है। मुझसे कई लोग कहते थे कि हमारी टीम टेस्ट क्रिकेट के मामले में दुनिया में नंबर एक थी। मुझे यह लगता है कि जब तक आप ट्रॉफी न उठा लो या फाइनल में न पहुंच जाओ, तब तक इस बात का यकीन नहीं होता है। मुझे लगता है कि सचमुच टेस्ट क्रिकेट को इस चैंपियनशिप की जरूरत है। हमारे पास टी-20 और वनडे वर्ल्डकप हैं। ऐसे में आपको इस बात का यकीन करने के लिए भी कुछ ना कुछ चाहिए कि आप टेस्ट में दुनिया की बेस्ट टीम हैं। समय पर टेस्ट चैंपियनशिप न शुरू होने का मुझे अफसोस है। अगर यह चैंपियनशिप मेरे समय में शुरू होती तो मेरी जीत को अधिक महत्व दिया जाता।"

स्टीव वॉ का टेस्ट क्रिकेट में शानदार रिकॉर्ड रहा है। उनकी टेस्ट मैचों में जीत का प्रतिशत 71.93 है। मालूम हो कि टेस्ट चैंपियनशिप में विश्व की टॉप-9 टीमें दो साल में कुल 71 मैच खेलेंगी। इसके बाद शीर्ष दो टीमें फाइनल में पहुंचेंगी। इनके बीच 10 से 14 जून 2021 तक इंग्लैंड में फाइनल मुकाबला खेला जाएगा।

टेस्ट चैंपियनशिप के दौरान हर टीम 6-6 सीरीज खेलेगी। इनमें से तीन शृंखलाएं घरेलू मैदान पर होंगी तो तीन विदेशी धरती पर। एक सीरीज में कम से कम दो या दो से ज्यादा टेस्ट मैच खेले जा सकते हैं। हर सीरीज के लिए 120 अंक रहेंगे, जिन्हें सीरीज में खेले जाने वाले मैचों की संख्या के हिसाब से बांट दिया जाएगा।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं


Edited by मयंक मेहता
Article image

Go to article

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now