Create

हार्दिक पांड्या की गेंदबाजी पर हो रही चर्चाओं को लेकर पूर्व भारतीय खिलाड़ी की बड़ी प्रतिक्रिया 

हार्दिक पांड्या की गेंदबाजी को लेकर काफी समय से चर्चाएं हैं
हार्दिक पांड्या की गेंदबाजी को लेकर काफी समय से चर्चाएं हैं
Prashant Kumar

ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) ने जब से फिट होकर वापसी की है तब से श्रीलंका दौरे को छोड़कर गेंदबाजी करते हुए नहीं दिखे हैं। टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup) के लिए जब भारतीय टीम (Indian Cricket Team) का का ऐलान किया गया था तो उस समय चयनकर्ताओं ने इस बात की जानकारी दी थी कि हार्दिक नियमित रूप से गेंदबाजी करेंगे। उसी समय से ही हार्दिक की गेंदबाजी को लेकर चर्चाओं का दौर शुरू हो गया। कुछ पूर्व खिलाड़ियों ने पांड्या के गेंदबाजी ना करने पर उन्हें टीम से बाहर करने का भी सुझाव दिया। हालांकि अब टी20 वर्ल्ड कप के मुख्य मुकाबले शुरू होने वाले हैं और इसको देखते हुए पूर्व भारतीय खिलाड़ी दीप दासगुप्ता का मानना है कि अब हार्दिक की गेंदबाजी को लेकर हो रही चर्चाओं को खत्म करने की जरूरत है।

हार्दिक पांड्या आईपीएल 2021 और टी20 वर्ल्ड कप के वार्म-अप मैचों में भी गेंदबाजी नहीं की। रोहित शर्मा ने भी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वार्म-अप मैच में टॉस के दौरान बताया था कि हार्दिक ने अभी नेट्स में भी गेंदबाजी नहीं शुरू की है।

ईएसपीएन क्रिकइन्फो से बात करते हुए, दीप दासगुप्ता ने कहा कि भारत के पहले दो मैच पाकिस्तान और न्यूजीलैंड के खिलाफ हैं और इन महत्वपूर्ण मैचों में लम्बे समय से गेंदबाजी ना करने वाले हार्दिक पर निर्भर नहीं रहना चाहिए। उन्होंने कहा,

मुझे लगता है कि हमें हार्दिक की गेंदबाजी चर्चा पर पूर्ण विराम लगाने की जरूरत है। उन्होंने एक भी गेंद नहीं फेंकी और हम विश्व कप की बात कर रहे हैं। अगर आप इसे भारतीय टीम के नजरिए से देखें तो पहले दो मैच बेहद अहम हैं। क्योंकि अगर आप उन दोनों में जीत हासिल कर लेते हैं, तो आप आसानी से क्वालीफाई कर सकते हैं।
उन दो मैचों में, आप ऐसे गेंदबाज के साथ ज्यादा मौके नहीं लेंगे, जिसने नेट्स में भी गेंदबाजी नहीं की है। इसलिए 5 गेंदबाज और विराट कोहली के द्वारा कुछ ओवर, इस रणनीति को जारी रखने का सही समय है।

छठे गेंदबाज के तौर पर विराट कोहली एक बुरे विकल्प नहीं हैं - दीप दासगुप्ता

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वार्म-अप मुकाबले में विराट कोहली गेंद के साथ नजर आये और उन्होंने दो ओवर की गेंदबाजी की। हार्दिक के गेंदबाजी ना करने पर टीम मैनेजमेंट को छठे गेंदबाजी विकल्प की तलाश है और इसी वजह से विराट कोहली ने खुद गेंदबाजी की।

दीप दासगुप्ता के अनुसार, कोहली की एक-दो ओवर फेंकने की रणनीति टीम के लिए खराब विकल्प नहीं हो सकती है। उन्होंने आगे कहा,

अश्विन और जडेजा ने पावरप्ले में वास्तव में अच्छी गेंदबाजी की। हमें पता है कि टीम इंडिया 5 मुख्य गेंदबाजों के साथ मैदान में उतरेगी। लेकिन विराट ने आज कुछ ओवर फेंके और सच कहूं तो यह कोई बुरा फैसला नहीं है। क्योंकि लगभग हर मैच एक बड़े मैदान - अबू धाबी और दुबई में खेला जाएगा। अगर विराट हर मैच में दो ओवर गेंदबाजी कर सकते हैं तो यह एक अच्छा विकल्प हो सकता है

Edited by Prashant Kumar

Comments

comments icon1 comment

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...