Create

Hardik Pandya को क्या टी20 वर्ल्ड कप में पांचवें गेंदबाज के तौर पर खिलाना चाहिए?

Nitesh
India v Pakistan - DP World Asia Cup
हार्दिक पांड्या एक बेहतरीन ऑलराउंडर बन चुके हैं

भारतीय टीम (Indian Cricket Team) के दिग्गज ऑलराउंडर खिलाड़ी हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) इस वक्त काफी बेहतरीन फॉर्म में हैं। गेंद और बल्ले दोनों से ही वो शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। आईपीएल (IPL) से ही वो बेहतरीन लय में नजर आ रहे हैं। सबसे अच्छी बात ये है कि अब वो अपनी पूरी क्षमता से गेंदबाजी कर रहे हैं। ऐसे में सवाल ये उठता है कि क्या हार्दिक पांड्या टी20 वर्ल्ड कप में पांचवें गेंदबाजी ऑप्शन के तौर पर खेल सकते हैं।

हाल ही में संपन्न हुए एशिया कप में हार्दिक पांड्या को कई मैचों में पांचवें गेंदबाज के तौर पर टीम में जगह दी गई थी लेकिन टीम इंडिया का ये प्रयोग सफल नहीं रहा था। पाकिस्तान के खिलाफ पहले मैच में जब टीम के पास छह गेंदबाजी ऑप्शन थे तब हार्दिक पांड्या ने बेहतरीन गेंदबाजी की थी और टीम इंडिया को जीत दिलाई थी। हालांकि जैसे ही रविंद्र जडेजा बाहर हुए पांड्या को पांचवें गेंदबाज के तौर पर खिलाया जाने लगा और टीम की ये रणनीति बुरी तरह असफल रही। हार्दिक पांड्या ना केवल महंगे साबित हुए बल्कि विकेट भी नहीं निकाल पाए। अगर एशिया कप में उनके रिकॉर्ड को देखें तो इससे तो यही पता चलता है कि उन्हें पांचवें गेंदबाज के तौर पर यूज करना काफी बड़ा रिस्क है और इससे टीम इंडिया को नुकसान ही होगा।

हालांकि कुछ दिग्गजों की मानें तो पांड्या को ही टीम का पांचवां गेंदबाज होना चाहिए। हाल ही में सुनील गावस्कर ने उनको लेकर प्रतिक्रिया दी थी और कहा था कि हार्दिक पांड्या वर्ल्ड कप में एक बेहतरीन गेंदबाज की भूमिका निभा सकते हैं। वहीं इरफान पठान ने जो अपनी प्लेइंग इलेवन सेलेक्ट की है उसमें भी उन्होंने पांड्या को पांचवें गेंदबाज के तौर पर रखा है। अब देखने वाली बात होगी कि टीम मैनेजमेंट क्या फैसला लेती है। हालांकि अगर पांड्या को ये रोल दिया जाता है तो फिर टीम के पास गलती की गुंजाइश काफी कम ही रहेगी और उन्हें कई मैचों में इसका नुकसान भी हो सकता है।

हार्दिक पांड्या ने आईपीएल में की थी बेहतरीन गेंदबाजी

आपको बता दें कि हार्दिक पांड्या ने खुद की फिटनेस के लिए 2021 वर्ल्ड कप के बाद ब्रेक लिया था और इसके बाद वह आईपीएल 2022 में वापस लौटे। उन्होंने गुजरात टाइटंस की कप्तानी संभाली और फ्रंट से लीड करते हुए अपनी टीम को ट्रॉफी जिताई। उन्होंने बल्ले के साथ अपनी टीम के लिए सबसे ज्यादा रन बनाये और जरूरत पड़ने पर गेंदबाजी करते हुए भी अहम विकेट निकाले।

Quick Links

Edited by Nitesh
Be the first one to comment