Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

युवराज सिंह के टेस्ट करियर की 3 यादगार पारियां 

टॉप 5 / टॉप 10
Modified 20 Dec 2019, 23:25 IST

युवराज सिंह

सोमवार, 10 जून को भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे बड़े हीरो युवराज सिंह ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया। देश के लिए दो वर्ल्ड कप (एक ट्वेंटी-20 और एक एकदिवसीय विश्व कप) जिताने वाले युवराज सिंह काफी लम्बे समय से टीम इंडिया से बाहर चल रहे थे।

युवराज सिंह का योगदान भारतीय क्रिकेट में बहुत बड़ा और सबसे खास रहा। सिक्सर किंग के नाम से लोकप्रिय युवराज सिंह ने अकेले अपने दम पर देश को कई नायाब जीत दिलाई। 402 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेलने वाले युवराज सिंह ने एकदिवसीय और टी-20 क्रिकेट में बड़ा नाम कमाया। कहने को युवराज सिंह ने 40 टेस्ट मैच जरुर खेले लेकिन उनको इस प्रारूप में उतनी लोकप्रियता नहीं मिली, जितनी वनडे और ट्वेंटी-20 क्रिकेट ने उन्हें दी।

आज हम आपको युवराज सिंह के टेस्ट करियर की तीन ऐसी यादगार पारियों के बारे में बताने जा रहे है, जो वाकई में बेहद खास और देश के लिए मूल्यवान रही।


# 85* बनाम इंग्लैंड, चेन्नई टेस्ट

युवराज सिंह चेन्नई टेस्ट 
युवराज सिंह चेन्नई टेस्ट 

इस सूची में सबसे पहली पहली पारी चेन्नई टेस्ट के दौरान इंग्लैंड के विरुद्ध खेली गयी 85 रनों की नाबाद पारी आती हैं। भारत और इंग्लैंड के बीच यह टेस्ट मैच साल 2008 में खेला गया था। उस समय इंग्लैंड की टीम मुंबई में हुए आतंकी हमलों के बाद केविन पीटरसन की अगुवाई में दो टेस्ट मैच खेलने भारत दौरे पर आई थी और श्रृंखला का पहला टेस्ट मैच चेन्नई के मैदान पर खेला गया था।

इस ऐतिहासिक टेस्ट मैच की चौथी पारी में युवराज सिंह ने लक्ष्य का पीछा करते हुए देश के लिए मैच जिताऊ पारी खेली थी। युवराज ने 131 गेंदों का सामना करते हुए नाबाद 85 रन बनाए थे। अपनी इस पारी में युवराज सिंह ने आठ चौके और एक छक्का भी लगाया था।

टीम इंडिया को यह टेस्ट मैच जीतने के लिए 387 रन बनाने थे और युवराज सिंह के 85 रनों ने वाकई में टीम की यादगार जीत में बहुत बड़ा योगदान दिया था। भारतीय टीम ने यह टेस्ट मैच 6 विकेट से जीता था और इस मैच में सचिन तेंदुलकर (103)* और युवराज सिंह ने छठे विकेट के लिए नाबाद 163 रन जोड़े थे।

1 / 3 NEXT
Published 11 Jun 2019, 13:12 IST
Advertisement
Fetching more content...